गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. क्राइम
  4. bank managers 8 months pregnant wife and son murder in Meerut
Written By Author हिमा अग्रवाल
पुनः संशोधित मंगलवार, 30 अगस्त 2022 (19:52 IST)

मेरठ में बैंक मैनेजर की 8 माह की गर्भवती पत्नी और बेटे की हत्या

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले से दिल दहलाने बड़ी खबर सामने आई है। यहां हस्तिनापुर में एक बैंक मैनेजर की 8 माह की गर्भवती पत्नी और बेटे की हत्या कर दी गई। हत्यारों ने मां-बेटे की हत्या कर उनके शवों को बेड के बॉक्स में डाल दिया। घटना से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है।
 
आसपास के लोगों के मुताबिक उन्हें घटना का आभास भी नही हुआ। दोनों की दुपट्टे से गला दबाकर की गई और घर के बाहर से ताला लगाकर हत्या के आरोपी घर में खड़ी स्कूटी लेकर फरार हो गए। पुलिस ने डेड बॉडी का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
 
मामला हस्तिनापुर थाना क्षेत्र के रामलीला ग्राउंड कॉलोनी का है, यहां बिजनौर जिले के जलीलपुर में पीएनबी में मैनेजर संदीप अपनी 8 माह की गर्भवती पत्नी और पांच साल के बेटे रुद्रांश के रहते हैं। संदीप ने बैंक ड्यूटी के दौरान मेरठ में अपनी पत्नी से बात करने के लिए बहुत देर तक फोन मिलाया, कोई रिस्पांस न मिलने के कारण वह घबरा गए और आनन-फानन में हस्तिनापुर स्थित घर पर पहुंचे। घर पर ताला लगा देखकर दंग रह गए।
 
काफी तलाश के बाद पुलिस को सूचना दी गई कि उनकी पत्नी और बेटा गुम है, घर पर ताला लगा हुआ है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आसपास के लोगों की मौजदूगी में घर का ताला तोड़ा। घर के अंदर घुसकर सभी दंग रह गए क्योंकि 25 वर्षीय शिखा जो 8 माह की गर्भवती थीं, उनकी और 5 साल के बेटे की हत्या हो चुकी थी। हत्या को अंजाम देकर भागने वाले बदमाशों ने दोनों के शव पलंग के बाक्स में डाल दिए थे।
 
पुलिस इस इन हत्याओं के पीछे किसी परिचित का हाथ मान रही है, क्योंकि घर में किसी के जबरन एंट्री करने की पुष्टि फिलहाल नहीं हो पाई है। घटनास्थल पर मेरठ के एसएसपी रोहित सिंह सजवान खुद पहुंचे। डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम मौके पर साक्ष्य जुटाकर जांच कर रही है। शिखा और रुद्रांश के गले में दुपट्टा बंधा हुआ मिला है। जिसके चलते आशंका व्यक्त की जा रही है कि दोनों की हत्या गला दबाकर की गई है। पुलिस ने मौके से कुछ फिंगरप्रिंट भी उठाए हैं, जिनकी जांच की जा रही है। वहीं,  पुलिस का दावा है कि जल्दी ही आरोपियों को पकड़ कर घटना का खुलासा कर दिया जाएगा। 
 
देखा जाए तो ये तीन लोगों की हत्या है। शिखा कुछ दिनों में एक नवजात को जन्म देने वाली थी, वहीं उसके 5 साल के बेटे और उसको बदमाशों ने मौत के घाट उतार दिया है। घटनास्थल से महज 150 मीटर की दूरी पर थाना है। आस-पड़ोस में चीख-पुकार न सुनाई देना संदेह पैदा करता है। ऐसे में माना जा रहा है कि बेहद करीबी ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है।
 
ये भी पढ़ें
सरकार बचाने की कवायद, झारखंड के 31 विधायक रायपुर पहुंचे