Corona virus : बड़ी खबर, भोपाल में 24 मार्च तक रहेगा लॉकडाउन

Last Updated: रविवार, 22 मार्च 2020 (15:25 IST)
भोपाल। विमान तल पर (virus) के संदिग्ध मिलने पर कार्यवाहक ने प्रदेश के मुख्य सचिव व डीजीपी से चर्चा की और कहा कि तत्काल एहतियातन सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। साथ ही जनता की सुरक्षा को देखते हुए भोपाल में 24 मार्च तक के लिए किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि शुरुआत में ही सावधानी बरती जाए और इस बीमारी की रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठा लिए जाएं तो इसे फैलने से रोका जा सकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा, इस संक्रामक बीमारी से लोगों को बचाने के लिए किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरती जाए। इस बीमारी से रोकथाम के लिए जनता में ज्यादा से ज्यादा जागरूकता के संदेश प्रसारित किए जाएं। भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में जाने से जनता ख़ुद को बचाए, खुद को ज्यादा समय घर में ही रखें, इस बीमारी से संदिग्ध व्यक्ति की जानकारी मिलते ही तुरंत सूचित करें।

कार्यवाहक मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि मैं एक बार फिर दोहराता हूं कि कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने को लेकर सुरक्षा की दृष्टि से उठाए कदमों व निर्णयों से छोटे खुदरा व्यावसायियों व रोज कमाकर अपना जीवन-यापन करने वालों के नुकसान को लेकर मैं बेहद चिंतित हूं। उनके नुक़सान की भरपाई हो, उनके लिए राहत पैकेज का इंतज़ाम अगली सरकार करे।
Bhopal

मुख्यमंत्री ने कहा कि नोवल कोरोना वायरस से बचाव व सुरक्षा के लिए एहतियातन कई क़दम उठाए जा रहे हैं व कई निर्णय लिए जा रहे हैं, जिसमें बाज़ार बंद, जनता कर्फ़्यू, व्यावसायिक क्षेत्र बंद, कार्यालय बंद, जनता द्वारा ख़ुद को लॉकडाउन, आयोजन बंद, समारोह बंद जैसे निर्णय सावधानी के बतौर लिए जा रहे हैं। इन निर्णयों से बड़े व्यवसायी तो एक बार ख़ुद को संकट से उबार लेंगे, लेकिन वो ग़रीब खुदरा, छोटे मध्यम व्यवसायी, दिहाड़ी मज़दूर और वे व्यवसायी जो प्रतिदिन कमाकर अपना जीवन-यापन करते हैं, घर चलाते हैं, उनको होने वाली आर्थिक क्षति को लेकर मैं बेहद चिंतित हूं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि चूंकि एक कार्यवाहक मुख्यमंत्री के रूप में अब मैं कोई नीतिगत निर्णय नहीं ले सकता हूं, इसलिए मैं आगामी सरकार से ही उम्मीद कर सकता हूं कि इन छोटे-छोटे व्यावसायियों को होने वाली आर्थिक क्षति व नुकसान की भरपाई वो आते ही करें। इनके लिए एक राहत पैकेज की घोषणा करें, क्योंकि उनके लिए यह दोहरी मार है। एक तरफ़ तो व्यवसाय चौपट हो रहा है, दूसरी ओर जीवन-यापन के लिए आवश्यक ख़र्च का इंतज़ाम भी करना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे आशा व विश्वास है कि आने वाली सरकार छोटे-छोटे खुदरा व्ययवसायियों, पान वाले, चाय वाले, ठेले वाले, गुमटी वाले, फुटपाथ पर व्यवसाय करने वालों, बाज़ार में व्यवसाय करने वाले, छोटे होटल वाले, दिहाड़ी मज़दूर व प्रतिदिन कमाकर अपना जीवन-यापन करने वाले इन लोगों के हितों की चिंता करेगी व इनके नुक़सान की भरपाई करेगी और इनके लिए एक सम्मानजनक राहत पैकेज की घोषणा करेगी।


और भी पढ़ें :