Rajasthan Coronavirus Update : राजस्थान में रोगियों के ठीक होने की दर 73.83 प्रतिशत हुई

Rajasthan Coronavirus Update
पुनः संशोधित मंगलवार, 21 जुलाई 2020 (02:10 IST)
जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमित रोगियों के ठीक होने की दर (Recovery rate) सुधरकर 73.83 प्रतिशत तथा कोरोना से होने वाली मृत्युदर कम होकर 1.90 प्रतिशत रह गई है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम की दृष्टि से राजस्थान देश में अग्रणी राज्यों में शामिल है।
प्रदेश में कोरोना सैंपल जांच की संख्या बढ़ाकर औसतन प्रतिदिन 25000 करने से हालांकि संक्रमित लोगों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है लेकिन कोरोना संक्रमितों का जल्दी पता लगने से समय पर उपचार के परिणाम स्वरूप उनके ठीक होने की दर सुधरी है।
956 नए मामले सामने आए : सोमवार को राजस्थान में कोरोना के 956 नए मामले सामने आए, जिससे संक्रमितों की कुल संख्या 30390 हो गई जिनमें से 7627 मरीजों का इलाज चल रहा हैं। 9 और लोगों की मौत के बाद कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 568 हो गई है। जोधपुर में 5, बीकानेर में 3, और पाली में 1 और संक्रमित की मौत दर्ज की गई।


सर्वाधिक मौतें में : केवल जयपुर में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 179 हो गई है जबकि जोधपुर में 73, भरतपुर में 46, कोटा में 29, अजमेर में 28, बीकानेर में 24, नागौर में 20 व पाली में 17, और धौलपुर में 14 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। अन्य राज्यों के 34 रोगियों की भी यहां मौत हुई है।
यहां नए मामले सामने आए : राज्य में संक्रमण के अब तक सबसे अधिक रिकॉर्ड 956 नए मामले सामने आए। इनमें जोधपुर में 178, पाली में 143, अलवर में 106, अजमेर में 92, जयपुर में 84, बाडमेर में 68, जालौर में 53, करौली में 38, नागौर-उदयपुर में 27-27, बीकानेर में 26, भरतपुर में 25, कोटा-जैसलमेर में 18-18, धौलपुर में 11, राजमसंद में 8, झालावाड़ में 7, सवाईमाधोपुर-भीलवाडा में 5-5, दौसा में 4, झुंझुनूं में 3 नए मामले शामिल हैं।
कोटा में एक सप्ताह में 232 नए कोरोना संक्रमित : कोटा में सोमवार को 18 नए कोरोना संक्रमित मरीज सामने आने के बाद पिछले एक सप्ताह में इसकी संख्या बढ़कर 232 हो गई है। जिले में बड़ी संख्या में कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी रहा।

जिले में अब तक कुल 1044 रोगी मिल चुके हैं। इस बीच कोटा में प्लाज्मा डोनेशन के जरिए कोरोनो वायरस से गंभीर रूप से पीड़ित रोगियों के उपचार करने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है।



और भी पढ़ें :