खुशखबरी! बच्चों को भी लगेगी कोरोना वैक्सीन, 10 से 12 दिन में शुरू होंगे Covaxin के ट्रायल्स

पुनः संशोधित मंगलवार, 18 मई 2021 (21:37 IST)
नई दिल्ली। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने मंगलवार को कहा कि के 2 से 18 साल की उम्र वालों के लिए भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) की तरफ से स्वीकृति दी गई है। आने वाले 10 से 12 दिनों में उसके दूसरे और तीसरे चरण के शुरू होंगे।
भारत में ऐसा पहली बार है जब बच्चों पर कोविड-19 के टीके का टेस्ट किया जाएगा। क्लीनिकल ट्रायल्स में दो कोविड -19 शामिल हैं जिन्हें 0 और 28 दिन पर लगाया जाएगा। ट्रायल्स कई साइटों पर होंगे, जिनमें एम्स दिल्ली, एम्स पटना और मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, नागपुर शामिल हैं।
DRDO एंटी-कोविड ड्रग 2DG को मिला इमरजेंसी अप्रूवल : सरकार कोविड-19 के इलाज के लिए निर्मित भारत की पहली स्वदेशी दवा 2-डीजी के आंकड़ों का अध्ययन करने के बाद इसे कोरोना वायरस के उपचार के राष्ट्रीय प्रोटोकॉल में शामिल करने पर विचार करेगी।

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल ने कहा कि भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने आंकड़ों को देखने के बाद दवा के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। दवा 2-डिऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-डीजी) को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) की प्रयोगशाला, नाभिकीय औषधि तथा संबद्ध विज्ञान संस्थान (इनमैस) ने डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज (डीआरएल), हैदराबाद के साथ मिलकर विकसित किया है।
पॉल ने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि हम कोविड-19 राष्ट्रीय कार्यबल की बैठक में दवा को राष्ट्रीय उपचार प्रोटोकॉल में शामिल करने के बारे में विचार करेंगे। दवा 2-डीजी की पहली खेप को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को यहां जारी किया था और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को सौंपा था।
दवा के शैशे का एक-एक डिब्बा एम्स दिल्ली के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया और सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा (एएफएमएस) के लेफ्टिनेंट जनरल सुनील कांत को सौंपा गया था। देशभर के विभिन्न अस्पतालों को आपात इस्तेमाल के लिए दवा सौंपी जाएगी। (इनपुट भाषा)



और भी पढ़ें :