कहर ढा रहा है कोरोना, 22 दिन में मिले 40.64 लाख संक्रमित, 7764 की मौत

Last Updated: शनिवार, 22 जनवरी 2022 (12:22 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। नए साल में दुनियाभर में कहर ढा रहा है। भारत में तीसरी लहर में जनवरी के पहले 22 दिनों में 40.64 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं जबकि एक्टिव मरीजों की संख्या भी देखते ही देखते 21 लाख के पार पहुंच गई। लोगों की बढ़ती लापरवाही से घर पर सेल्फ टेस्ट कीट के बढ़ते इस्तेमाल के बाद भी इस तादाद में कोरोना संक्रमितों का सामना आना स्थिति की भयावहता को बता रहा है। हालांकि फिलहाल कोरोना मई-जून 2021 की जानलेवा साबित नहीं हो रहा है कि लेकिन संक्रमण की रफ्तार धीरे-धीरे इसकी घातकता बढ़ने के भी संकेत दे रही है।

जनवरी में मिले 40.64 लाख कोरोना संक्रमित : जनवरी के 22 दिनों में देश में 40 लाख 64 हजार 877 कोरोना संक्रमित मिले हैं। साल के पहले दिन देश में कोरोना के 22,775 मरीज मिले थे। 7 जनवरी को 2022 में पहली बार कोरोना मरीजों की संख्‍या 1 लाख के पार पहुंच गई।
संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ रही थी। 13 जनवरी को देश में 2 लाख 47 हजार नए मामले सामने आए। 20 जनवरी को 3 लाख से ज्यादा नए कोरोना मरीज मिले। कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों को देख हर कोई हैरान था।


एक्टिव मरीजों की संख्‍या 21 लाख पार : देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,37,704 नए मामले सामने आने के बाद कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 3,89,03,731 हो गए हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 21,13,365 हो गए हैं जो पिछले 237 दिनों में सर्वाधिक हैं।

एक्टिव मामले संक्रमण के कुल मामलों का 5.43 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर घटकर 93.31 प्रतिशत हो गई है। आज दैनिक संक्रमण दर 17.22 प्रतिशत दर्ज की गई जबकि साप्ताहिक संक्रमण दर 16.65 प्रतिशत रही।

22 दिन में 7764 की मौत : कोरोना ने नए साल में जमकर कहर ढाया। भले ही डेथ रेट फिलहाल कम नजर आ रहा हो लेकिन पिछले जनवरी के डेथ ग्राफ पर नजर डाली जाए तो आंकड़े बेहद चौकाने वाले हैं। इन 22 दिनों में 7764 लोग महामारी की वजह से काल के गाल में समा गए।

आंकड़े इस बात का भी संकेत दे रहे हैं कि कोरोना को किसी भी स्थिति में हल्के में नहीं लिया जा सकता। जनवरी की 3 और 4 तारीख को कोरोना संक्रमण से जहां 125 से कम लोग मारे गए थे वहीं 21 जनवरी को 703 लोगों की जान ले ली। 5 जनवरी को कोरोना की वजह से 534 लोगों की मौत हुई थी। 6 दिन 400 से 500 के बीच लोग मारे गए तो 7 दिन मृतक संख्‍या 300 से 400 के बीच थी। मात्र 6 दिन कोरोना ने 200 से कम लोगों की जान ली। पिछले 11 दिनों से लगातार 300 से ज्यादा लोग कोरोना की वजह से मर रहे हैं।

डरा रहे हैं यह 7 दिन : देश में 16 जनवरी से 22 जनवरी के बीच के 7 दिनों में 3092 लोग कोरोना की वजह से दुनिया छोड़ चुके हैं। इस माह के तीसरे हफ्ते में कोरोना जानलेवा होने का संकेत दे रहा है। 21 जनवरी को 2022 में सबसे ज्यादा 703 लोगों की मौत हुई। 19 जनवरी से अब तक लोग 400 से ज्यादा कोरोना संक्रमितों की मौत हो रही है।

कहां- कितनी मौतें : देश में संक्रमण से अभी तक कुल 4,88,884 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र के 1,42,023, केरल के 51,607, कर्नाटक के 38,537, तमिलनाडु के 37,145, दिल्ली के 25,541, उत्तर प्रदेश के 23,022 और पश्चिम बंगाल के 20,265 लोग थे।

10 हजारी हुआ ओमिक्रॉन : देश में वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के 10,050 मामले भी शामिल हैं। शुक्रवार से ओमीक्रोन के मामलों में 3.69 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। ऐसा माना जा रहा है कि यहां मिल रहे अधिकांश मरीज ओमिक्रॉन के ही है हालांकि जिनोम जिक्वेंसिंग की पर्याप्त सुविधाएं नहीं होने की वजह से ज्यादा मरीजों में इसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है।

आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक 71.34 करोड़ नमूनों की जांच की गई है जिनमें से 19,60,954 जांच पिछले 24 घंटे में की गई। अब तक कोविड-19 टीके की 161.16 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं।



और भी पढ़ें :