एक्सप्लेनर:भोपाल में कल कोरोना वैक्सीन का ड्राईरन,मॉक ड्रिल से लेकर वैक्सीनेशन तक की तैयारियों की पूरी रिपोर्ट

पहले चरण में 3.84 लाख हेल्थ वर्कर्स का होगा टीकाकरण

Corona vaccine
Author विकास सिंह| Last Updated: शुक्रवार, 1 जनवरी 2021 (13:31 IST)
भोपाल। देश को नए साल में आज की खुशखबरी मिल सकती है। वैक्सीन को मंजूरी देने के लिए एक्सपर्ट कमेटी की बैठक हो रही है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों को 2 जनवरी से के ड्राई रन करने के निर्देश दिए है। केंद्र के इस निर्देश के बाद मध्यप्रदेश में भी कोरोना वैक्सीनेशन के ड्राई रन करने को लेकर सभी तैयारियां पूरी हो गई है। शनिवार को राजधानी भोपाल में कोरोना वैक्सीनेशन का ड्राई रन किया जाएगा। जिले के तीन सेंटर पर कोरोना वैक्सीनेशन के ड्राई रन में कोल्ड चेन से वैक्सीनेशन साइट्स तक वैक्सीन लाने-ले जाने की पूरी प्रक्रिया परखी जा जाएगी है। ड्राई रन में बूथ पर कोरोना वैक्सीनेशन के सभी फैक्टर को बरीकी से जांचा परखा जाएगा। इसमें टीकाकरण केंद्र पर लोगों के वैक्सीनेशन के पहुंचने से लेकर उनके वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को पूरी होने तक की पूरी प्रक्रिया का मॉकड्रिल किया जाएगा।

सबसे पहले 3.84 लाख हेल्थ वॉरियर्स का टीकाकरण- प्रदेश में कोरोना वैक्सीन के पहले चरण में 3.84 लाख किया जाएगा। इसमें सरकारी हेल्थ वर्कर्स के साथ प्राइवेट डॉक्टर और हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया जाएगा। इसके बाद 50 साल उपर वाले और हाईरिस्क की श्रेणी में आने वाले लोगों (कैंसर,डायबिटीज,हाइपरटेंशन बीमारी से पीड़ित) को लगाई जाएगी। वहीं तीसरे चरण में कोरोना वैक्सीनेशन फ्रंटलाइन वर्कर्स (पुलिस,नगर निगम, डिजास्टर मैनेजमेंट) के लोगों को वैक्सीनेशन होगा।
Co-Win से रजिस्ट्रेशन और सूचना- कोरोना वैक्सीनेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग ने विशेष प्रकार को-विन (Co-Win) सॉफ्टवेयर को डिजाइन किया है। को-विन पर रजिस्ट्रेशन के लिए वोटर आईडी कार्ड समेत बारह पहचान पत्र मान्य होंगे। को-विन पर रजिस्ट्रेशन के जरिए वैक्सीन कराने वाले लोग अपना नाम,पता,मोबाइल नंबर आदि दर्ज कराएंगे और इसी सॉप्टवेयर के जरिए ही लोगों को कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण की सूचना एसएमएस (SMS) भेजे जाएगी। जिसमें वैक्सीनेशन का बूथ और टीका लगवाने का दिन और समय लिखा होगा। इसके बाद लोगों को निश्चित दिन और निश्चित समय पर टीकाकरण कराने के लिए आना होगा।

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए लोगों की पहचान और उन तक सूचना पहुंचाने के लिए वोटर आईडी कार्ड का उपयोग किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की ओर से तैयार किए गए को-विन सॉफ्टवेयर की मदद से वोटर आईडी कार्ड के जरिए 50 से उपर और 50 से कम आयु वर्ग के लोगों की श्रेणियां तैयार की जा रही है। जिसकी मदद से पूरा टीकाकरण कार्यक्रम चलेगा।

कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारी-मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन के अभियान के सफल संचालन के लिए लॉजिस्टिक तैयारियां पूरी कर ली गई है। कोरोना वैक्सीन रखने के लिए भोपाल, इंदौर,जबलपुर और ग्वालियर में चार रीजनल स्टोरेज सेंटर बनाए गए है। इसके साथ पूरे प्रदेश में कोरोना वैक्सीन सुरक्षित रखने के लिए 1214 कोल्ड चेन फोकल प्वाइंट (वैक्सीन
रखने का स्थान) जिसमें 40 नए फोकल प्वाइंट बनाए गए है।

इसके साथ जिलों में ब्लॉक लेवल तक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने के लिए 51 इन्सुलेटेंड वैक्सीन वैन को रखा गया है। इसके साथ ही वैक्सीन के संग्रहण और सुरक्षित रखने के लिए 411 डीप फ्रीजर, आठ वॉक इन फ्रीजर (walk-in-freezers) और आठ ही वॉक-इन-कूलर (walk-in-coolers) केंद्र से मगाएं गए है।



और भी पढ़ें :