MP में 18 प्लस वालों का प्राइवेट नहीं सिर्फ नॉन कोविड सरकारी सेंटरों पर ही होगा वैक्सीनेशन,ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अनिवार्य

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर संतोष शुक्ला से खास बातचीत

Author विकास सिंह| Last Updated: मंगलवार, 4 मई 2021 (17:26 IST)
भोपाल। में 5 मई से 18 साल के अधिक उम्र के लोगों का कोरोना टीकाकरण शुरु होगा। प्रदेश में कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण पहले के दो चरणों की अपेक्षा कितना अलग होगा और 18 साल से अधिक उम्र के लोग कैसे वैक्सीनेशन करवा सकेंगे। इसको लेकर 'वेबदुनिया' ने राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर संतोष शुक्ला से खास बातचीत की।
ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पर ही वैक्सीनेशन- ‘वेबदुनिया’ से बातचीत में राज्य टीकाकरण अधिकारी
डॉक्टर संतोष शुक्ला कहते हैं वैक्सीनेशन के तीसरे चरण में सबसे बड़ा बदलाव ये है कि अब वैक्सीनेशन के लिए स्पॉट रजिस्ट्रेशन नहीं होगा। प्रदेश में 18 से 44 साल तक अधिक आयु वाले उन्हीं लोगों का वैक्सीनेशन हो सकेगा जिन्होंने कोविन पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। रजिस्ट्रेशन के लिए इस आयु वर्ग के लोगों को प्री बुकिंग करना होगा। कोविन पोर्टल पर 2003 (जिनकी उम्र 18 वर्ष पूर्ण हो गई हो) या उसके पहले जन्म लेने वाले ही अपना रजिस्ट्रेशन करा पाएंगे।
डॉक्टर संतोष शुक्ला कहते हैं कि मध्यप्रदेश में 18 साल से अधिक आयु वालों का वैक्सीनेशन पहले 1 मई से प्रस्तावित था इसलिए जिन्होंने पहले रजिस्ट्रेशन करा लिया हो वह कोविन पोर्टल पर जाकर उनका रजिस्ट्रेशन रीशेड्यूलिंग करना होगा।
मैसेज आने पर ही वैक्सीनेशन साइट पर पहुंचे- ‘वेबदुनिया’ के जरिए डॉक्टर संतोष शुक्ला युवाओं से अपील करते हैं कि वह रजिस्ट्रेशन के बाद ही वैक्सीनेशन साइट पर पहुंचे। रजिस्ट्रेशन के बाद मैसेज के जरिए आपको वैक्सीनेशन की सूचना दी जाएगी यहां आप मान्य दस्तावेजों में से किसी एक को लेकर पहुंचकर टीकाकरण करवा सकते है। ऐसे वक्त जब कोरोना महामारी अपने चरण पर तब वैक्सीनेशन को लेकर लोगों में बैचेनी और जल्दबाजी होने पर राज्य टीकाकरण अधिकारी कहते हैं कि वैक्सीनेशन को लेकर कोई पैनिक नहीं हो सभी का वैक्सीनेशन होगा। इसलिए वह सभी से अपील करते हैं कि वैक्सीनेशन को लेकर कोई जल्दी नहीं करें सभी का वैक्सीनेशन होगा और जैसे-जैसे वैक्सीन मिलती जाएगी वैक्सीनेशन सत्रों का आयोजन होता जाएगा।

नॉन कोविड सेंटर पर होगा टीकाकरण-प्रदेश में के तीसरे चरण में वैक्सीनेशन सेंटर नॉन कोविड सेंटर होंगे यानि अब ऐसे अस्पताल जहां कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा वहां वैक्सीनेशन नहीं होगा। ‘वेबदुनिया’ से बातचीत में डॉक्टर संतोष शुक्ला कहते हैं कि टीकाकरण के इस चरण में स्कूल,कॉलेज और कम्युनिटी हॉल को वैक्सीनेशन सेंटर बनाया गया है।
प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन नहीं-
कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण में प्राइवेट संस्थाओं में वैक्सीनेशन नहीं होगा। वैक्सीनेशन की नई गाइडलाइन के मुताबिक अब प्राइवेट सेक्टर में टीकाकरण नहीं होगा। अब वैक्सीनेशन डिस्ट्रीब्यूशन में हुए परिवर्तन के बाद अब केवल शासकीय संस्थाओं में ही वैक्सीनेशन होगा।
मध्यप्रदेश में 18 साल से उपर वालों का मुफ्त वैक्सीनेशन होगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहले ही यह एलान कर चुके है।
टीकाकरण का पूरा कार्यक्रम-‘वेबदुनिया’ से बातचीत में राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर संतोष शुक्ला कहते हैं कि प्रदेश में कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण 5 मई से शुरु होगा। जिसमें 5 से 15 मई तक कुल 1 लाख 48 हजार लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी,इसके लिए 1480 सत्र आयोजित होंगे। इसके बाद जैसे-जैसे प्रदेश को टीके मिलते जाएंगे वैसे-वैसे टीकाकरण कार्यक्रम की रुपरेखा बनती जाएगी।

डॉक्टर संतोष शुक्ला कहते हैं कि 5 और 6 मई को 104 सत्र होंगे जिसमें 10 हजार 400 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी, इसके बाद 8 और 10 मई को 416 सत्र होंगे जिसमें 41 हजाप 600 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। वहीं 12,13 और 15 मई को 960 सत्र आयोजित कर 96 हजार लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। सरकार ने 4.76 करोड़ कोविशील्ड वैक्सीन और 52.25 लाख कोवैक्सीन का ऑर्डर दिया है।



और भी पढ़ें :