बड़ी खबर: मध्यप्रदेश में 1 सितंबर से खुलेंगे कॉलेज,जुलाई में ओपन बुक से UG-PG के एग्जाम

50 फीसदी स्टूडेंट की उपस्थित के साथ खुलेंगे कॉलेज और यूनिवर्सिटी

NEET Examination
Author विकास सिंह| Last Updated: सोमवार, 28 जून 2021 (18:20 IST)
मध्यप्रदेश में यूनिवर्सिटी और एक सिंतबर से 50 फीसदी स्टूडेंटस के साथ खोल दिए जाएंगे। कॉलेजों को खोलने को लेकर मंत्री समूह की बैठक में यह बड़ा फैसला किया गया। बैठक में तय किया गया कि यूनिवर्सिटी और कॉलेज में नया सत्र एक सितंबर से शुरु होगा और जिला आपदा प्रबंधन समिति के परामर्श पर महाविद्यालय वार समय सारिणी अनुसार विद्यार्थियों की 50 प्रतिशत भौतिक उपस्थिति के साथ कक्षाओं का संचालन किया जाएगा। वहीं प्रयोगशालाओं का संचालन विद्यार्थियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ किया जाएगा। वही स्टूडेंट के रहने के

लिए हॉस्टल और लाइब्रेरी भी चरणबद्ध रूप से शुरु किए जाएंगे।
वैक्सीनेट होने पर ही एंट्री-यूनिवर्सिटी और कॉलेज में उन्हीं स्टेंडट को प्रवेश दिया जाएगा जिनको वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी होगी। बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि समस्त शैक्षणिक गतिविधियों में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी विद्यार्थियों का शत-प्रतिशत टीकाकरण और शैक्षणिक परिसरों में कोविड अनुकूल व्यवहार का अनुसरण अनिवार्यता सुनिश्चित किया जाए। जिनका वैक्सीनेशन नहीं होगा, उन्हें परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाए।
एक अगस्त से कॉलेजों में एडमिशन-
स्नातक प्रथम वर्ष एवं स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर के लिए प्रवेश प्रक्रिया एक अगस्त से आरंभ होगी जोकि 30 अगस्त तक चलेगी। वहीं स्नातक (UG) प्रथम, द्वितीय, तृतीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर प्रथम एवं तृतीय सेमेस्टर के लिए नया सत्र 1 सितम्बर से शुरु होगा होगा।


एग्जाम और रिजल्ट-

वहीं प्रदेश में स्नातक तृतीय वर्ष एवं स्नातकोत्तर की परीक्षा परिणाम जुलाई में,स्नातक प्रथम/ द्वितीय वर्ष एवं स्नातकोत्तर द्वितीय वर्ष की परीक्षाएं जुलाई में और स्नातक प्रथम/ द्वितीय वर्ष एवं स्नातकोत्तर द्वितीय वर्ष के परीक्षा परिणाम अगस्त 2021 में जारी किए जाएंगे।

वहीं हेल्थ से संबंधित संस्थाओं में शैक्षणिक सत्र 2021-22 के प्रवेश नीट परीक्षा 2021 के परीक्षा परिणाम उपरांत ऑनलाइन काउंसलिंग के माध्यम से सम्पन्न कराए जाएंग। आयुष पाठ्यक्रम की कक्षाओं का संचालन ऑनलाइन मोड में जारी रहेगा। क्लीनिकल विषय के लिए कैम्पस में भौतिक रूप से उपस्थिति छात्रों के 06-06 के समूह बनाकर सुनिश्चित की जाएगी।
आयुष के अंतर्गत समस्त परीक्षाएं ऑफलाइन मोड में संचालित की जाएंगी। बीएएमएस की परीक्षाएं 07 जुलाई से 25 अगस्त तक, बीएचएमएस की परीक्षाएं 30 जून से 24 जुलाई तक और बीयूएमएस की परीक्षाएं 30 जून से 30 जुलाई तक आयोजित की जाएंगी।





और भी पढ़ें :