चीन में 76 दिन का लॉकडाउन खत्म, स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चेतावनी, कम नहीं हुआ संक्रमण का खतरा

पुनः संशोधित बुधवार, 8 अप्रैल 2020 (23:10 IST)
बीजिंग/वुहान। जहां से महामारी शुरू हुई और पूरी दुनिया में फैल गई, वहां 73 दिन के बाद, बुधवार को खत्म हो गया है। इसके बाद हजारों लोगों ने शहर से बाहर निकलने के लिए यात्राएं शुरू कीं। लॉकडाउन के कारण शहर में लगभग 1.1 लाख लोग फंस गए थे।

इस बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि संक्रमण बढ़ने का खतरा अभी पूरी तरह से दूर नहीं हुआ है।

यात्रा प्रतिबंधों के हटाए जाने के कुछ घंटों के भीतर ही मास्क पहनने वाले हजारों लोग ट्रेनों, घरेलू उड़ानों और टैक्सियों से नगर से बाहर निकलने लगे।

सरकार ने स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र हासिल करने वाले सभी स्थानीय लोगों के लिए सड़क, हवाई और ट्रेन यात्रा पर प्रतिबंध हटा दिया है।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार आधी रात को वुहान के आसपास के टोल गेटों पर बैरिकेड हटा दिए गए। इसके बाद वाहनों की लंबी लाइन लग हुई है। रिपोर्ट के अनुसार अनुमान है कि बुधवार को ट्रेनों से करीब 55,000 लोग वुहान से बाहर जाएंगे। इसके साथ ही बुधवार को करीब 200 उड़ानों का भी संचालन होना है।


हालांकि देश में कोविड-19 के नए मामलों की संख्या 1,000 के पार पहुंच गई है और 2 संक्रमित लोगों की मौत भी हो चुकी है जिसके साथ ही यहां संक्रमण के फिर से फैलने की आशंका बढ़ गई है।
के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि मंगलवार को चीनी भूभाग पर कोविड-19 के 62 नए मामलों की पुष्टि हुई है जिनमें से 59 मामले ऐसे हैं जिनमें लोग विदेश से लौटे हैं। कुल मामले 1,042 हो गए।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि तीन नए घरेलू मामले भी सामने आए हैं जिनमें दो शानडोंग प्रांत और एक गुआंगडोंग प्रांत से है।


आयोग ने कहा कि मंगलवार को संक्रमण से दो लोगों की मौत हो गई जिनमें से एक व्यक्ति की शंघाई में और एक अन्य की हुबेई प्रांत में मौत हुई, इसके साथ ही देश में संक्रमण के कारण मरने वाले लोगों की संख्या 3,333 हो गई।

चीनी मुख्यभूमि पर मंगलवार तक कुल पुष्ट मामलों की संख्या 81,802 हो गई जिनमें 1,190 मरीज ऐसे हैं जिनका उपचार चल रहा है, 77,279 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और 3,333 लोगों की रोग से मौत हो गई।

वुहान में लॉकडाउन को देखते हुए ही दुनिया के कई देशों ने इस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन का यही मॉडल अपनाया था।


बुधवार की मध्यरात्रि से लॉकडाउन खत्म होने के बाद शहर के 1.1 करोड़ लोगों को अब कहीं भी आने-जाने के लिए विशेष अनुमति की जरूरत नहीं होगी बशर्ते अनिवार्य स्मार्टफोन एप्लीकेशन में यह पता चलता हो कि वे स्वस्थ हैं और किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में नहीं आए हैं। (भाषा)




और भी पढ़ें :