भारत में क्या है कोरोना वैक्सीनेशन का गणित...

पुनः संशोधित रविवार, 16 मई 2021 (09:42 IST)
नई दिल्ली। देश में रूस की स्पूतनिक वी के आने के बाद देश लोगों के पास वैक्सीनेशन के लिए 3 विकल्प हो गए हैं। हालांकि वैक्सीन की राशनिंग अभी भी जारी है। लोग अभी भी वैक्सीनेशन के लिए परेशान है। 18 से 44 वर्ष के लोगों को वैक्सीन के लिए स्लॉट नहीं मिल रहा है तो का पहला डोज ले चुके 45 वर्ष के ऊपर के लोगों को दूसरे डोज के लिए 13 से 16 माह तक इंतजार करने को कहा गया है। फिलहाल अधिकांश राज्यों में वैक्सीन सरकारी खर्चे पर ही लग रही है। कुछ वैक्सीन केंद्र सरकार राज्यों को दे रही है शेष की व्यवस्था राज्यों को खुद करना है।
21.26 करोड़ रजिस्ट्रेशन, 18.07 करोड़ खुराक : देश में वैक्सीनेशन के लिए 21.26 करोड़ लोगों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। इनमें से 7,53,60,510 करोड़ लोग 18 से 44 वर्ष के बीच के हैं जबकि 13,72,81,236 करोड़ 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के हैं। अब तक देश में कोरोना की 18,15,53,433 करोड़ खुराके दी जा चुकी है। इनमें से 14,11,39,270 करोड़ को पहली और 4,04,14,163 को दोनों खुराकें दी जा चुकी है।

दिसंबर तक सबको वैक्सीन : केंद्र सरकार का दावा है कि अगस्त से दिसंबर के बीच 5 महीनों में देश में 2 अरब से अधिक खुराक उपलब्ध कराई जाएंगी, जो पूरी आबादी का टीकाकरण करने के लिए पर्याप्त हैं। उन्होंने कहा कि अगले साल की प्रथम तिमाही तक यह संख्या तीन अरब होने की संभावना है।
अगस्त से दिसंबर के बीच कोविशील्ड की 75 करोड़ खुराक का उत्पादन अनुमानित है, जबकि कोवैक्सीन की 55 करोड़ खुराक उपलब्ध कराई जाएंगी।
डॉ. रेड्डीज के सीईओ एमवी रमना को 2 महीनों में आरडीआईएफ से 3.6 करोड़ खुराकें मिलने की उम्मीद है।

कोविशील्ड : सीरम इंस्टीट्यूट ने केंद्र सरकार को कोविशील्ड 150 रुपए प्रति खुराक की दर से बेची है। राज्यों के लिए कीमत 300 रुपए प्रति खुराक की दर से वैक्सीन दी जा रही है। निजी अस्पतालों को 600 रुपए प्रति डोज की दर पर बेचा जाएगा इस पर भी 5 प्रतिशत जीएसटी अलग से लग रहा है।

कोवैक्सीन : भारत बायोटेक की कोवैक्सीन ने केंद्र को अपना टीका 150 रुपए की दर से बेचा है जबकि राज्यों और निजी क्षेत्र के लिए अपने टीके की कीमत कम्रश: 400 और 1200 रुपए प्रति डोज (खुराक) रखी है। इस पर भी 5 प्रतिशत जीएसटी अलग से लगेगा।
स्पूतनिक : डॉ. रेड्डीज लैब ने शुक्रवार को कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक वी को भारतीय बाजार में सादे ढंग से पेश किया। कंपनी ने कहा कि इस आयातित दवा की एक खुराक का खुदरा मूल्य 948 रुपए है। इस पर 5 प्रतिशत की दर से जीएसटी के साथ टीके का मूल्य 995.40 रुपए प्रति खुराक बैठता है।

कितने दिन के अंतर से लगेगा दूसरा डोज : कोवैक्सीन के 2 डोज के बीच में 28 दिन का अंतर है। कोविशील्ड टीके की दूसरी खुराक 12-16 हफ्तों के अंतराल के बाद दी जाएगी, जो कि पहले 6-8 हफ्तों के अंतराल पर दी जा रही थी। स्पूतनिक V के 2 डोज के बीच 21 दिन का अंतर जरूरी है।
वैसे तो सरकार ने सभी कंपनियों को ओपन मार्केट में वैक्सीन बेचने की इजाजत दी है पर इन कंपनियों के पास केंद्र और राज्य सरकारों के ही इतने ऑर्डर हैं कि वे ही पूरे नहीं हो पा रहे हैं।



और भी पढ़ें :