Corona Vaccination में बड़ी कामयाबी, 2 खुराक ले चुके लोगों की संख्‍या हुई 1 खुराक लेने वालों से ज्‍यादा

पुनः संशोधित बुधवार, 17 नवंबर 2021 (22:17 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने बुधवार को कहा कि कोरोनावायरस (Coronavirus) रोधी टीके की पूरी खुराक लेने वाले लोगों की संख्या देश में पहली बार टीके की एक खुराक लेने वाले लोगों के पार चली गई है।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘जन भागीदारी’ और ‘संपूर्ण सरकारी दृष्टिकोण’ की दूरदृष्टि, सरकार में लोगों का विश्वास और ‘हर घर दस्तक’ अभियान के कारण यह उपलब्धि मिली है। मांडविया ने एक बयान में कहा, देशव्यापी टीकाकरण कवरेज में महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल करते हुए पहली बार पूरी तरह टीके की खुराक ले चुके लोगों की संख्या उन लोगों के पार चली गई है, जिन्होंने टीके की केवल एक खुराक ली है।

बुधवार सुबह सात बजे तक मिली रिपोर्ट के अनुसार, देश में कुल 113.68 करोड़ खुराक दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि इसे 1,16,73,459 टीकाकरण सत्र के जरिए हासिल किया जा सका। इनमें से 75,57,24,081 खुराक पहली खुराक के तौर पर दी गई और 38,11,55,604 खुराक दूसरी खुराक के जरिए दी गई। टीकों की दोनों खुराक लेने वाले लोगों की संख्या (38,11,55,604) पहली खुराक लेने वाले लोगों की संख्या (37,45,68,477) के पार चली गई है।

उन्होंने ट्वीट कर सभी पात्र नागरिकों से टीका लगवाने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘हम एक साथ मिलकर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जीतेंगे। बयान के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने विश्वास जताया कि महीनेभर चलने वाले 'हर घर दस्तक' अभियान के अंत तक देश हर भारतीय का टीकाकरण कर लेगा।

मांडविया ने कहा, टीकाकरण के जरिए कोविड-19 से प्रत्येक नागरिक की रक्षा करने के लिए भारत सरकार की दृढ़ राजनीतिक प्रतिबद्धता के कारण देशव्यापी टीकाकरण अभियान को कई उपलब्धियां हासिल करने में मदद मिली। देश ने 21 अक्टूबर को 100 करोड़ खुराक देने का गौरव हासिल किया।

इसके बाद प्रधानमंत्री ने स्पष्ट आह्वान किया और तीन नवंबर को ‘हर घर दस्तक’ अभियान शुरू किया गया ताकि प्रत्येक दरवाजे को खटखटाया जाए और प्रत्येक घर तक पहुंचा जाए और कोविड-19 के खिलाफ प्रत्येक नागरिक को टीका लगाया जाए। बयान में कहा गया है कि स्वास्थ्य देखभाल कर्मी देशभर में घर-घर जाकर पात्र लोगों को टीका लगा रहे हैं और उनका विशेष ध्यान उन जिलों पर है जहां 50 प्रतिशत से भी कम टीकाकरण हुआ है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी आश्वासन दिया कि देश में टीकों की कोई कमी नहीं है और उन्होंने लोगों से टीके की दूसरी खुराक लेने और अपने परिवार तथा समुदाय में भी लोगों को दोनों खुराक लेने के लिए प्रेरित करने का अनुरोध किया।(भाषा)




और भी पढ़ें :