विवादों में फंसी अर्जुन कपूर-संजय दत्त की फिल्म ‘पानीपत’, बैन करने की मांग उठी, जानें पूरी डिटेल्स

Last Updated: सोमवार, 9 दिसंबर 2019 (15:33 IST)
निर्देशक की बहुप्रतीक्षित पीरियड फिल्म ‘पानीपत’ रिलीज हो गई है। मिली-जुली प्रतिक्रियाओं के साथ फिल्‍म की ठीक-ठाक शुरुआत हुई है। लेकिन अब फिल्म को लेकर राजस्‍थान के कुछ हिस्‍सों में प्रदर्शन शुरू हो गया है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि फिल्‍म में भरतपुर के राजा को लालची शासक के रूप में दिखाया गया है।
फिल्‍म में मराठा पेशवा सदाशिव राव भाऊ, महाराजा सूरजमल से अफगानों के खिलाफ मदद करने के लिए कहते हैं लेकिन सूरजमल बदले में आगरा का किला चाहते हैं। जब उनकी मांग पूरी नहीं होती है तो वह सदाशिव को युद्ध में साथ देने से इनकार कर देते हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिल्‍म को लेकर भरतपुर के जाटों को आपत्ति है। स्‍थानीय लोग निर्देशक आशुतोष गोवारीकर के पुतले जला रहे हैं। उन्‍हें लगता है कि फिल्‍म में महाराजा सूरजमल को गलत तरीके से पेश किया गया है।
इस विवाद पर इतिहासकार महेंद्र सिंह सिकरवार ने कहा कि ‘पानीपत’ फिल्म में महाराजा सूरजमल के किरदार को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है जो गलत है, जबकि इस किरदार को इतिहास के अनुसार दर्शाया जाना चाहिए था’।

महाराजा सूरजमल के वंशज और राजस्थान के पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने फिल्म को बैन करने की मांग करते हुए कहा, “मेरा मानना है कि हरियाणा, राजस्थान और उत्तर भारत के जाट समुदाय में भारी रोष को देखते हुए इस फिल्म पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए, अन्यथा कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ सकती है।”
सिंह ने ट्विटर पर लिखा कि यह अत्यंत दुख की बात है कि ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ करते हुए भरतपुर के महाराजा सूरजमल जाट जैसे महान पुरुष का चित्रण ‘पानीपत' फिल्म में बेहद गलत तरीके से किया गया है।

उन्होंने कहा, “मैं महाराजा सूरजमल जाट की 14वीं पीढ़ी से हूं। वास्तविकता यह है कि पेशवा और मराठा जब युद्ध हारकर लौट रहे थे तो महाराजा सूरजमल और महारानी किशोरी ने 6 माह तक संपूर्ण मराठा सेना और पेशवाओं को अपने यहां पनाह दी थी। मेरा सरकार से निवेदन है कि एक कमेटी बना दी जाए कि यदि किसी वंश या महान व्यक्ति पर अगर कोई फिल्म बनाई जाती है तो ऐसी मूवी को रिलीज करने से पहले उसके परिवारजनों और समाज से अनुमति ली जाए।”

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने भी फिल्म में महाराजा सूरजमल के गलत चित्रण का विरोध करते हुए ट्विटर पर लिखा, “स्वाभिमानी,निष्ठावान और हृदय सम्राट महाराजा सूरज मल का फ़िल्म निर्माता द्वारा फिल्म पानीपत में किया गया गलत चित्रण निदंनीय है।”


नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल ने भी ट्विटर पर ‍लिखा, “महाराजा सूरजमल जी हमारे देश का गौरव है उनके इतिहास के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी फिल्म पानीपत में उनके इतिहास के दृश्य के साथ जो छेड़छाड़ की गई है उसको नहीं हटाया गया तो देश की कानून व्यवस्था बिगड़ेगी और इसका अंजाम निर्माता निर्देशकों को भुगतना पड़ेगा।”

बता दें कि फिल्म ‘पानीपत’ में अर्जुन कपूर, सदाशिव राव भाऊ के किरदार में हैं तो वहीं उनकी पत्नी पार्वती बाई के रोल में हैं। जबकि दुर्रानी साम्राज्य के संस्थापक और अफगानिस्तान के शासक अहमद शाह अब्दाली की भूमिका में हैं।



और भी पढ़ें :