कंगना रनौट ने अब महात्मा गांधी को लेकर किया विवादित पोस्ट, बोलीं- दूसरा गाल आगे करने से आजादी नहीं...

पुनः संशोधित बुधवार, 17 नवंबर 2021 (12:50 IST)
बॉलीवुड एक्ट्रेस अपने बेबाक बयानों की वजह से सुर्खियों में रहती हैं। बीते दिनों एक्ट्रेस ने एक कार्यक्रम में कहा था कि '1947 में जो आजादी मिली वो भीख थी, असली आजादी 2014 में मिली।' कंगना के इस बयान पर अभी विवाद थमा भी नहीं है और उन्होंने एक और विवादित बयान दे दिया है।

इस बार कंगना रनौट ने महात्मा गांधी को लेकर विवादित बयान दिया है। कंगना रनौट ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करके महात्मा गांधी को भूखा और चालाक बताया है। एक्ट्रेस ने कहा कि दूसरा गाल आगे करने से भीख मिलती है न कि आजादी।

कंगना ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर एक पुराने न्यूज पेपर का एक आर्टिकल शेयर किया है। इसके साथ उन्होंने लिखा, 'आप या तो गांधी के फैन हो सकते हैं या फिर नेताजी के समर्थक। आप दोनों नहीं हो सकते। इसका फैसला खुद करें।'
इसके अलावा कंगना ने एक पोस्ट में लिखा, जो लोग आजादी के लिए लड़े उसे उन लोगों ने अपने मालिकों को सौंप दिया। क्योंकि उनमें न तो हिम्मत थी और न ही खून में उबाल। वे सत्ता के भूखे और चालाक थे। ये वही लोग थे, जिन्होंने हमें सिखाया अगर कोई तुम्हारे एक गाल पर थप्पड़ मारे तो उसके सामने अपना दूसरा गाल आगे कर दो और इस तरह तुमको आजादी मिल जाएगी। ऐसे किसी को आजादी नहीं मिलती, सिर्फ भीख मिलती है, अपने हीरो समझदारी से चुनें।
कंगना ने दूसरे पोस्ट में लिखा, गांधी ने भगत सिंह और नेताजी को कभी भी सपोर्ट नहीं किया। इसके कई सबूत हैं जो इशारा करते हैं कि गांधीजी चाहते थे कि भगत सिंह को फांसी हो जाए। इसलिए आपको चुनना है कि आप किसे सपोर्ट करते हैं। क्योंकि उन सबको अपनी यादों में रखना और उनकी जयंती पर विश करना काफी नहीं है। लोगों को अपना इतिहास और अपने हीरोज का पता होने चाहिए।
कंगना रनौट को हाल ही में भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। इससे पहले कंगना ने चौथी बार बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल फिल्म पुरस्कार अपने नाम किया है।

वर्क फ्रंट की बात करें तो कंगना रनौट इन दिनों अपने प्रोडक्शन हाउस की फिल्म 'टीकू वेड्स शेरु' की शूटिंग में बिजी है। इस फिल्म में कंगना बतौर प्रोड्यूसर काम कर रही हैं। वहीं वह तेजस, धाकड़, मणिकर्णिका रिटर्न्स और सीता जैसी फिल्मों में एक्टिंग करते नजर आएंगी।



और भी पढ़ें :