गोविंदा भी हो चुके हैं नेपोटिज्म का शिकार, अमिताभ बच्चन को लेकर कही यह बात

पुनः संशोधित सोमवार, 15 मार्च 2021 (14:28 IST)
हमें फॉलो करें
बॉलीवुड एक्टर गोविंदा का ना सिर्फ एक्टिंग, बल्कि डांस के मामले में भी कोई जवाब नहीं रहा। कभी हीरो नंबर 1 कहे जाने वाले गोविंदा ने अपने करियर और निजी जिंदगी को लेकर कई हैरान कर देने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने बताया कि वह का शिकार हो चुके हैं।

इसके अलावा गोविंदा ने के संघर्ष को लेकर भी बात की। नेपोटिज्म यानी भाई-भतीजावाद का मुद्दा उठाते हुए गोविंदा ने कहा, लोग आज नेपोटिज्म की बातें कर रहे हैं और मैं तो 20 सालों से येह देख रहा हूं। लोगों ने मुझे बदनाम करने की भी कोशिश की है।

गोविंदा ने आगे कहा, मुझे आज की स्थिति के बारे में कुछ नहीं कहना। अब इसके बारे में चर्चा करने का कोई मतलब नहीं है। मैं उस कलाकार को मौका देना चाहता हूं, जो या तो नेपोटिज्म की वजह से आगे नहीं बढ़ पा रहा है या फिर उसके पास सीमित संसाधन हैं। मैं अपनी कंपनी के जरिए नई प्रतिभाओं की मदद करना चाहता हूं।
गोविंदा चाहते हैं कि बड़ी कंपनियां भी उनका सहयोग करें और काबिल कलाकारों को फिल्म इंडस्ट्री में करियर बनाने का अवसर जरूर दें। बता दें कि गोविंदा, 'गोविंदा एंटरटेनमेंट नंबर 1' नाम से प्रोडक्शन कंपनी भी चलाते हैं।

अमिताभ बच्चन के संघर्ष के बारे में बताते हुए गोविंदा ने कहा, एक वक्त ऐसा आया, जब मुझे काम मिलना ही बंद हो गया। मैंने अमिताभ बच्चन का संघर्ष भी देखा है। वह मंच पर आते थे तो लोग उन्हें देखकर मुंह मोड़ लेते थे या वहां से चले जाते थे।

गोविंदा ने कहा, मुझे नहीं पता, पर लगता है कि उनका समर्थन करने के चलते बॉलीवुड के लोगों ने मुझसे किनारा करना शुरू कर दिया। अमिताभ बच्चन को तो लोगों ने फ्री कर दिया, पर मुझे पकड़ लिया।


गोविंदा पिछली बार 'आ गया हीरो' और 'रंगीला राजा' जैसी कई फिल्मों में नजर आए, लेकिन वह अपना खोया हुआ स्टारडम वापस लाने में नाकाम रहे। गोविंदा ने कहा, "पिछले 14-15 सालों में मैंने पैसे लगाए और करीब 16 करोड़ का नुकसान उठाया। मेरी फिल्मों को थियेटर नहीं मिले। लोग मेरा करियर खत्म करना चाहते थे, जो नहीं हुआ।



और भी पढ़ें :