वरुण धवन और सारा अली खान की फिल्म 'कुली नं. 1' का ट्रेलर इस दिन होगा रिलीज

Last Updated: बुधवार, 25 नवंबर 2020 (11:59 IST)
और की फिल्म 'कुली नं 1' का इंतजार मसाला फिल्म के शौकीनों को लंबे अरसे से है, लेकिन कोरोनावायरस ने उम्मीदों पर पानी फेर रखा है। मई में रिलीज होने वाली यह फिल्म अब क्रिसमस पर देखने को मिलेगी, लेकिन थिएटर की बजाय ओटीटी प्लेटफॉर्म पर।

फिल्म के बारे में ताजा खबर यह है कि इसका रिलीज होने वाला है। 28 नवंबर को ट्रेलर रिलीज होगा और इससे फैंस को थोड़ी राहत मिलेगी।

सभी जानते हैं कि यह गोविंदा और करिश्मा कपूर अभिनीत फिल्म 'कुली नं.1' का रीमेक है। इसे ने निर्देशित किया था और रीमेक को भी डेविड ने ही बनाया है।



सिंगल स्क्रीन में भी होगी रिलीज?
कुली नं 1 को भी अमेजॉन प्राइम वीडियो वालों को दे दिया गया है। आगामी कुछ दिनों में यह फिल्में सीधे घर पर देखने को मिलेगी। इस निर्णय से फिल्म के निर्देशक डेविड धवन खुश नहीं हैं। वे अपनी फिल्म को सिनेमाघर में ही रिलीज करना चाहते थे। हो सकता है कि उनकी सोच को पुरानी ठहरा कर दरकिनार कर दिया गया हो, लेकिन डेविड अभी भी जुटे हुए हैं।
ओटीटी प्लेटफॉर्म पर फिल्म या वेबसीरिज देखने की सुविधा भारत में बहुत ही कम लोगों के पास है। डेविड चाहते हैं कि उनकी फिल्म ओटीटी के साथ-साथ सिनेमाघर में भी रिलीज हो। इससे फिल्म की पहुंच ज्यादा दर्शकों तक हो जाएगी और जिसे जहां देखना है वो वहां देख लेगा।

मल्टीप्लेक्स वाले फैसला ले चुके हैं कि यदि कोई फिल्म सीधे ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज की जाती है तो वे अपने सिनेमाघर में फिल्म का प्रदर्शन नहीं करेंगे क्योंकि मल्टीप्लेक्स में फिल्म देखने वाले ज्यादातर दर्शकों के पास ओटीटी प्लेटफॉर्म की सुविधा है, लेकिन सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरवालों को इस पर ऐतराज नहीं है। उनका मानना है कि उनके दर्शकों में ज्यादातर के पास यह सुविधा नहीं है इसलिए वे दर्शक उनके सिनेमाघर में फिल्म देखने के लिए आ सकते हैं।
अक्षय कुमार की फिल्म 'लक्ष्मी' के लिए भी सिंगल स्क्रीन सिनेमाघर वालों ने मांग की थी कि ओटीटी प्लेटफॉर्म के साथ-साथ फिल्म उनके सिनेमाघर में भी रिलीज हो, लेकिन उनकी बात अनसुनी कर दी गई। फिल्म के मेकर्स इस कोशिश में लगे हुए हैं कि उनकी फिल्म ओटीटी के साथ-साथ सिंगल स्क्रीन सिनेमाघर में भी रिलीज हो और हो सकता है कि उनकी कोशिश रंग लाए क्योंकि सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों को प्रदर्शन के लिए दो-तीन बड़ी फिल्मों की सख्त जरूरत है।



और भी पढ़ें :