'अपनापन... बदलते रिश्तों का बंधन' के जरिए एक आशाजनक किरदार के साथ वापस लौटे सेजान खान

पुनः संशोधित सोमवार, 2 मई 2022 (17:07 IST)
हमें फॉलो करें
स्लाइस ऑफ लाइफ से लेकर हाई-ऑक्टेन ड्रामा तक, सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन अपने कंटेंट लाइन अप के साथ दर्शकों को एक संपूर्ण पारिवारिक अनुभव प्रदान कर रहा है। एक बार फिर चैनल एक और दिलचस्प शो 'अपनापन... बदलते रिश्तों का बंधन' लाने के लिए तैयार है, जो अपनी दिली कहानी के साथ दर्शकों के दिलों को छू लेने का वादा करता है।

रिश्तों में दुविधा और जटिलताओं पर प्रकाश डालते हुए, यह शो एक अलग हुए जोड़े - पल्लवी और निखिल की कहानी के इर्द-गिर्द बुना गया है, जो अब सिंगल पैरेंट्स हैं और अपने अतीत की बाधाओं से जूझते हुए पालन-पोषण की अपनी चुनौतियों का सामना करते हैं। लेकिन, नियति उन्हें एक बार फिर आमने-सामने ले आती है… क्या वे अपने परिवार की खातिर अपने रिश्तों को दूसरा मौका देंगे? इस सवाल का जवाब दर्शकों को जरूर बांधे रखने वाला है।
लोकप्रिय टेलीविजन स्टार, इसमें मुख्य नायक निखिल जयसिंह की भूमिका निभाएंगे जो एक सफल व्यवसायी, सेलिब्रिटी शेफ और एक अनुपस्थित पिता है। वह अक्सर भौतिक संपत्ति के जरिए प्यार में हुए भावनात्मक नुकसान की भरपाई करने की कोशिश करता है।

अपने चरित्र के बारे में विस्तार से बताते हुए सेजान खान कहते हैं, जब आप एक ऐसी परियोजना में आते हैं जो आपको उत्साहित करती है और आप इसे शुरू करने के लिए इंतजार नहीं कर सकते हैं, तो आप जानते हैं कि आपने कुछ खास पाया है। अपनापन प्यार, रिश्तों, विश्वास, आशा, एकजुटता और परिवार की कहानी लाता है और एक अलग हुए जोड़े पल्लवी और निखिल की यात्रा बयां करता है।

उन्होंने कहा, शो का एक पहलू जिसने मुझे मेरी भूमिका के लिए आकर्षित किया वह परिपक्वता थी जिसमें कपल अलगाव जैसे नाजुक मुद्दे से निपटने की कोशिश करते हैं। मेरा चरित्र निखिल एक शेफ, एक महत्वाकांक्षी व्यवसायी और एक तेज तर्रार व्यक्तित्व वाला सिंगल पैरेंट है। लेकिन उसके दिल तोड़ने वाले अतीत ने उसे भावनात्मक रूप से अलग कर दिया है।

सेजान ने कहा, वह अपने बच्चों से प्यार करता है, वह एक अनुपस्थित रहने वाला पिता है जो बच्चों के लिए उपस्थित रहने का प्रयास करता है। वह उपहारों के जरिए हुए प्यार के भावनात्मक नुकसान की भरपाई करने की कोशिश करता है। जब कहानी या चरित्र को जीवन में लाने की बात आती है तो एकता (कपूर) के पास हमेशा एक महान दृष्टि होती है और अपनेपन के साथ वह एक आधुनिक युग की कहानी को खूबसूरती से सामने लाती हैं। जो रिश्तों और माता-पिता की दुविधाओं को उजागर करती है।



और भी पढ़ें :