अमेजन ओरिजिनल 'मिर्जापुर' एशियाई एकेडमी क्रिएटिव अवार्ड्स 2021 में हुई सम्मानित

Last Updated: शनिवार, 4 दिसंबर 2021 (14:26 IST)
अमेजन ओरिजिनल, सीजन 2 ने सिंगापुर में आयोजित क्रिएटिव एक्सीलेंस के लिए (एएए), एशिया पैसिफिक (एपीएसी) के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में शीर्ष सम्मान जीता है। यह अवार्ड एपीएसी क्षेत्र में फिल्म और टेलीविजन उद्योग में उत्कृष्टता को दर्शाता है।

भारत के सबसे पसंदीदा स्थल, अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध, मिर्जापुर एक ब्लॉकबस्टर शो है जिसे प्रशंसकों और आलोचकों से समान रूप से सराहना और प्यार मिला है। 'बेस्ट ओरिजिनल प्रोग्राम बाय ए स्ट्रीमर/ओटीटी' कैटेगरी में इसकी जीत डिजिटल स्पेस में एक ट्रेलब्लेजिंग शो के रूप में अपनी स्थिति को और मजबूत करती है।

अमेजन प्राइम वीडियो इंडिया की हेड ऑफ इंडिया ओरिजिनल्स अपर्णा पुरोहित ने कहा, प्राइम वीडियो में हम अपने दर्शकों को विभिन्न शैलियों, श्रेणियों, भाषाओं और फॉर्मेट्स में कंपीलिंग कंटेंट पेश करने की दिशा में लगातार काम कर रहे हैं, जो मनोरंजन, प्रेरणा और उत्तेजना प्रदान करती है। हमारी प्रोग्रामिंग हमारे ग्राहकों की विविध आवाज़ों को दर्शाती है और उन कहानियों के लिए एक वैश्विक प्रदर्शन प्रदान करती है जो स्थानीय संस्कृति में गहराई से निहित हैं, जिससे वे दुनिया भर के दर्शकों के लिए अधिक प्रामाणिक, आकर्षक और इमर्सिव बन जाते हैं।

मिर्जापुर सीजन 2 के लिए पुरस्कार प्राप्त करने पर निर्माता, पुनीत कृष्णा ने कहा, मिर्जापुर के प्रत्येक तकनीशियन और टैलेंट के लिए यह एक बहुत बड़ा क्षण है, एक श्रृंखला जो एक घरेलू नाम बन गई है। शो की प्रामाणिकता और रिलेटैब्लटी इसे एक अनूठी और दिलचस्प श्रृंखला बनाती है, जो दर्शकों को एक गहरे स्तर पर जोड़ती है। मिर्जापुर को दर्शकों के लिए एक यादगार अनुभव बनाने के लिए कैमरे के पीछे कड़ी मेहनत करने वाले प्रत्येक अभिनेता और प्रत्येक व्यक्ति को दिल से धन्यवाद।

यह जीत कहानियों और कहानीकारों को आकर्षित करने वाली सेवा के रूप में प्राइम वीडियो की स्थिति को मजबूत करती है। अपने विविध, प्रामाणिक, लोकल कंटेंट के माध्यम से भारतीयों के मनोरंजन के पांच साल पूरे होने के उपलक्ष्य में, यह न केवल मनोरंजन के लिए सबसे पसंदीदा स्थान बन गया है, बल्कि मनोरंजन के एक नए युग की शुरुआत करने में अपनी भूमिका के लिए देश की रचनात्मक अर्थव्यवस्था के भीतर भी इसे स्वीकार किया जा रहा है।



और भी पढ़ें :