एक फ्लैट में 21 दिन अकेले रहना कोरोना से जंग का सबसे चुनौतीपूर्ण हिस्सा था: जेनेलिया डिसूजा

Last Updated: मंगलवार, 1 सितम्बर 2020 (17:17 IST)
एक्ट्रेस जेनेलिया डिसूजा ने हाल ही में खुलासा किया था कि तीन हफ्ते पहले वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी, हालांकि अब वह पूरी तरह से स्वस्थ हो चुकी हैं। एक इंटरव्यू में एक्ट्रेस ने बताया कि उन्हें कोरोना संक्रमण किससे हुआ। साथ ही, उन्होंने आइसोलेशन में रहने का अनुभव शेयर किया।




जेनेलिया ने बताया कि वह लातूर गई थीं और वहां घर में किसी शख्स को कोरोना संक्रमण हो गया। इसलिए सभी ने अपना कोरोना टेस्ट करवाया, जिसमें जेनेलिया की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।




एक्ट्रस ने कहा, “मैंने कभी अपने सपने में भी नहीं सोचा था कि मेरा टेस्ट पॉजिटिव आएगा क्योंकि मुझे कोई भी कोरोना के लक्षण नहीं थे। हमने लातूर में अपना टेस्ट करवाया और हमें उस दिन वापस आना था। हम अपने प्लान के मुताबिक वापस आने लगे, तो रास्ते में मुझे फोन आया कि मेरा टेस्ट पॉजिटिव आया है। शुक्र है कि रितेश और बच्चों का टेस्ट नेगेटिव आया।



रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद घर वापस जाने के बजाय जेनेलिया लीलावती अस्पताल में सीधे भर्ती होने के लिए तैयार थी। उन्होंने कहा, “मैं इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार थी। लेकिन जब उन्होंने जांच की और पाया कि मैं पूरी तरह से एसिम्पटोमेटिक हूं और यहां तक ​​कि मेरा एक्स-रे भी क्लियर है। इसलिए मुझे घर पर खुद को क्वारंटीन करने की सलाह दी गई। मैं हमारे दूसरे प्लैट में रहने चली गई। मैं किसी को रिस्क में नहीं डालना चाहता थी। मैंने सोचा कि मुझमें तीसरे दिन बुखार या कोई दूसरा लक्षण दिखेगा। लेकिन मुझे कुछ भी नहीं हुआ।”



एक्ट्रेस ने कहा कि कोरोना से जंग के दौरान परिवार से दूर अलग फ्लैट में रहना सबसे चुनौतीपूर्ण था। जेनेलिया ने बताया, “अब मुझे लगता है कि मुझे अपने घर में ही एक अलग कमरे में खुद को क्वारंटीन कर लेना चाहिए था। अकेले रहना बहुत मुश्किल था, जहां किसी के कदमों की आवाज भी सुनाई नहीं देती थी। हालांकि, मेरे दोस्त मुझे फोन करके खुश रखने की पूरी कोशिश करते थे। और जिस तरह रितेश ने बच्चों की जिम्मेदारी संभाली, वह उल्लेखनीय है। रितेश एक बेहतरीन पति और पिता हैं।”



और भी पढ़ें :