खूंखार गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम के चंगुल से छूट मरफी रेडियो के 'बच्चे' से मंदाकिनी ने की शादी

Last Updated: शुक्रवार, 30 जुलाई 2021 (12:24 IST)
महान फिल्म निर्देशक ने मेरठ में जन्मी यास्मिन जोसेफ को मंदाकिनी नाम से फिल्म 'राम तेरी गंगा मैली' में मौका दिया और मंदाकिनी रातों-रात स्टार बन गईं।

फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर ऐतिहासिक कामयाबी हासिल की। मंदाकिनी ने फिल्म में ऐसे बोल्ड सीन किए जो किसी भी हिंदी फिल्म की हीरोइन ने आज तक नहीं किए थे।

लोग मंदाकिनी के दीवाने हो गए और फिल्म निर्माताओं में मंदाकिनी को साइन करने की होड़ मच गई। पानी में भीगती हीरोइन की छवि ऐसी उनसे चिपकी कि छुटकारा पाना मुश्किल हो गया। हर निर्माता अपनी फिल्म में ऐसे ही सीन करवाना चाहता था और मंदाकिनी के लिए यह छवि भारी पड़ गई।

राम तेरी गंगा मैली के बाद मंदाकिनी ने ढेर सारी फिल्में साइन कर ली। राम तेरी गंगा मैली वाली सफलता तो वे दोहरा नहीं सकीं, लेकिन करियर अच्छा-खासा चल रहा था।

नब्बे के दशक की शुरुआत में मंदाकिनी और खूंखार गैंगस्टर की तस्वीरें सामने आने लगीं। कहने वाले कहते थे कि दाऊद भी मंदाकिनी का दीवाना था और इसी कारण मंदाकिनी से उसने नजदीकियां बढ़ाईं।

साथ में दाऊद की बॉलीवुड में गहरी रूचि थी। कहा जाता है कि उसने अपना काला धन फिल्मों में लगा रखा था और फिल्म निर्देशकों से वह कुछ कलाकारों की सिफारिश भी करता था।

दाऊद से नजदीकियां मंदाकिनी पर भारी पड़ी। मंदाकिनी पर आरोप भी लगा कि वह उसके साथ रहने के लिए दुबई भी चली गई थीं। हालांकि मंदाकिनी ने दाऊद से उसके संबंध को जोड़ने वाली सभी अफवाहों का खंडन किया। मंदाकिनी का दावा था कि वे और दाऊद तो व्यक्तिगत रूप से एक-दूसरे को नहीं जानते हैं।

बहरहाल, मंदाकिनी के इन दावों का कोई असर नहीं हुआ। दाऊद से नाम जुड़ने के कारण उनका करियर बुरी तरह प्रभावित हुआ और धीरे-धीरे ग्लैमर इंडस्ट्री ने उन्हें भूला दिया।

मंदाकिनी ने बाद में एक पूर्व बौद्ध भिक्षु डॉ. काग्युर टी. रिनपोचे ठाकुर से शादी की। ठाकुर को 1970 और 1980 के दशक में मर्फी रेडियो के विज्ञापनों में बच्चे के रूप में दिखाया था उन्हें प्रसिद्धी मिली थी। उनका रब्बिल नाम का एक बेटा और एक बेटी रब्ज़े इनाया मंदाकिनी है। उन्हें याद करने वाले अभी भी राम तेरी गंगा मैली के लिए याद करते हैं।



और भी पढ़ें :