नई और पुरानी जंजीर में फर्क है : प्रियंका चोपड़ा

PR

हिंदी के साथ-साथ तेलुगु में भी बनी है। क्या आपने तेलुगु सीखी?
सीखना चाहती थी, पर नहीं सीख पाई। मैंने तेलुगु संवादों को रट्टा मारकर याद किया। कई बार तीन पेज के तेलुगु संवाद याद किए। पहले हम हिंदी वर्जन की शूटिंग करते थे फिर तेलुगु वर्जन की। इस वजह से रिदम बना रहता था। यह मेरी पहली दो भाषाओं वाली फिल्म है।

जंजीर के रिमेक का कुछ लोगों ने विरोध भी किया है।
कई बेवजह विरोध हुए हैं जो कि गलत बात है। मेरा मानना है कि रचनात्मकता को सीमाओं में नहीं बांधना चाहिए। हम लोग रचनात्मकता, कला और फिल्म को लेकर ज्यादा ही जजमेंटल हो गए हैं। मेरे लिए तो इस फिल्म में अभिनय करना एक बेहतरीन यात्रा रही है। हमें अमिताभ बच्चन का भी आशीर्वाद मिला। जब मैं और रामचरण ‘जंजीर’ के लिए शूटिंग कर रहे थे तो बगल के स्टुडियो में ही अमिताभ जी भी शूटिंग कर रहे थे। वे रामचरण से मिले और आशीर्वाद दिया। यह बहुत बड़ी बात है।

आपकी बहन परिणीति की फिल्म ‘शुद्ध देसी रोमांस’ और आपकी ‘जंजीर’ साथ रिलीज हो रही है...
अच्छी बात है। दर्शक हम दोनों की ही फिल्म देखेगा। मैं परिणीति की प्रगति से खुश हूं।

अच्छी फिल्म की आपकी क्या परिभाषा है?
समय ताम्रकर|
जिसे दर्शक पसंद करे और जो पैसा कमाए।



और भी पढ़ें :