Where Eagles Dare (1968) : सनसनीखेज एक्शन एडवेंचर से लबालब

द्वितीय विश्व युद्ध की एक्शन फिल्म है। एलिस्टेयर मॅकलीन ने कहानी लिखी है जो काल्पनिक है। सनसनीखेज एक्शन एडवेंचर से यह फिल्म लबालब है और जबरदस्त सस्पेंस इस मूवी की खासियत है। एक क्षण भी फिल्म की गति धीमी नहीं होती।


यह एक गुप्त खुफिया सेवा पैराट्रूप टीम का एक महल पर छापे मारने की कहानी को दर्शाती है। एक अमेरिकन 'जनरल' को नाजियों के कब्जे से बवेरिअन किले से छुड़ाना है। किले में जाने के लिए केवल रोपवे की ट्रॉली है। कहानी में दिलचस्प मोड़ है।

ठंडे दिमाग से, कुशलता से, अपार सूझबूझ से और अपार साहस से अपने काम को अंजाम देने वाली इस टोली का मुखिया बर्टन है। सबसे ज्यादा प्रभावित करते हैं क्लिंट इस्टवुड। सभी आयु के दर्शक इस फिल्म का आनंद ले सकते हैं।
का इस फिल्म को करने के पीछे का दिलचस्प किस्सा है। बर्टन ने कहा था, "मैंने यह फिल्म करने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि एलिजाबेथ के दो बेटों ने कहा कि वे मुझसे ऐसी फिल्मों से तंग आ चुके हैं जिन्हें उन्हें देखने की अनुमति नहीं है, या जिनमें मैं मारा जाता हूं। वे चाहते थे कि इसके बजाय में फिल्मों में कुछ लोगों को मार दूं।"

बर्टन ने निर्माता इलियट कस्तनर से संपर्क किया और उनसे पूछा कि क्या उनके पास मेरे लिए कुछ सुपर-हीरो वाला कंटेंट हैं जिसमें मैं अंत में मारा नहीं जाता।" आखिरकार उन्हें सस्पेंस, मिस्ट्री और एक्शन से भरपूर फिल्म उन्हें मिल गई।
  • निर्माण : एमजीएम बिन्कास्ट
  • निर्माता : इलियाट कास्टनर
  • निर्देशक : ब्रायन जी हुटन
  • कलाकार : रिचर्ड बर्टन, क्लिन्ट इस्टवुड, मेरी उर, मिशेल हॉर्डन, पेट्रिक वेमार्क
  • वर्ष : 1968
  • देश : यूके
  • रंगीन
  • अवधि : 2 घंटे 38 मिनट



और भी पढ़ें :