सुशील मोदी बोले- संघ परिवार से बहुत कुछ मिला, कोई नहीं छीन सकता कार्यकर्ता का पद

Last Updated: सोमवार, 16 नवंबर 2020 (01:31 IST)
हमें फॉलो करें
पटना। (Bihar) की नई सरकार में उप-मुख्यमंत्री पद (Deputy CM) को लेकर संशय की स्थिति के बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने रविवार को कहा कि उन्हें भाजपा और परिवार से बहुत कुछ मिला है और एक कार्यकर्ता का पद उनसे कोई छीन नहीं सकता।

नीतीश कुमार की जनता दल (यू) के साथ भाजपा की गठबंधन सरकार में सुशील कुमार मोदी लगातार उप-मुख्यमंत्री रहे हैं लेकिन इस बार सरकार गठन की कवायद के बीच उप-मुख्यमंत्री पद को लेकर संशय बना हुआ है।
इस बीच, सुशील मोदी ने ट्वीट किया, ‘भाजपा एवं संघ परिवार ने मुझे 40 वर्षों के राजनीतिक जीवन में इतना दिया की शायद किसी दूसरे को नहीं मिला होगा। आगे भी जो ज़िम्मेवारी मिलेगी, उसका निर्वहन करूँगा।कार्यकर्ता का पद तो कोई छीन नहीं सकता।’

इससे पहले एक अन्य ट्वीट में सुशील मोदी ने कहा कि तारकिशोर जी को भाजपा विधानमंडल का नेता सर्वसम्मति से चुने जाने पर कोटिशः बधाई।

गौरतलब है कि जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का नेता चुने जाने के बाद राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश कर चुके हैं। सोमवार को नई सरकार का शपथग्रहण कार्यक्रम होगा।
इस बीच, नई सरकार में मंत्रियों की संख्या के बारे में पूछे जाने पर मनोनीत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह भी तय हो जाएगा। यह पूछे जाने पर कि क्या सुशील कुमार मोदी उपमुख्यमंत्री बनेंगे, कुमार ने स्पष्ट कुछ बोलने की बजाए केवल इतना कहा कि यह सब थोड़ी देर में तय हो जाएगा।

इधर, केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने भी उप-मुख्यमंत्री के बारे में पूछे जाने पर केवल इतना कहा, ‘‘ उचित समय पर आपको जानकारी मिल जाएगी।
भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की मौजूदगी में मुख्यमंत्री आवास, एक अणे मार्ग पर राजग के घटक दलों की संयुक्त बैठक हुई।

इससे पहले भाजपा की बैठक में तारकिशोर प्रसाद को भाजपा विधायक दल का नेता और रेणु देवी को उपनेता चुना गया। बहरहाल, उपमुख्यमंत्री पद के लिए 8 बार के विधायक प्रेम कुमार और राम मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे कामेश्वर चौपाल के नाम पर भी अटकले लगाई जा रही हैं।
हालांकि भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री प्रेम कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि वह उप-मुख्यमंत्री पद के लिए कोई दावेदारी नहीं कर रहे हैं और उन्हें जो भी दायित्व दिया जाएगा, उसे पूरा करेंगे। (भाषा)




और भी पढ़ें :