अयोध्या फैसले से पहले CM योगी ने मंत्रियों को दी हिदायत, विवादित बयान देने से बचें

अवनीश कुमार| पुनः संशोधित शनिवार, 2 नवंबर 2019 (11:49 IST)
लखनऊ। में इस समय अयोध्या मुद्दे को लेकर फैसले का इंतजार बड़े ही जोर-शोर से सभी को है तो वहीं अयोध्या के फैसले के आने के चलते पूरे प्रदेश में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए जहां सभी जिले के जिलाधिकारी अपने-अपने जिले में शांति कमेटी का गठन करवा रहे हैं, वहीं सभी धर्मों के लोगों के साथ बैठकर विचार-विमर्श कर रहे हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ऐसे में की बैठक के दौरान उत्तरप्रदेश के ने अयोध्या मुद्दे पर फैसला आने से पहले व आने के बाद किसी भी प्रकार के न देने के निर्देश देते कहा है कि जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके, फैसले से जुड़े किसी भी मामले पर कोई भी टिप्पणी न करें तो ही ठीक रहेगा। उत्तरप्रदेश में शांति बनाए रखने के लिए प्रभावी समन्वय के लिए काम करना होगा और इसमें आप सभी मंत्रियों को सहयोग करना होगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राम मंदिर पर कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, उसका पूरा प्रदेश सम्मान करेगा। ऐसे में कोई भी मंत्री अनावश्यक बयानबाजी न करे। विपक्ष अगर सरकार पर कोई भी आरोप लगाता है तो उसको उसका जवाब दिया जाएगा लेकिन तार्किक ढंग से। और जवाब देने के लिए जिसे इस विषय के बारे में बेहतर जानकारी होगी, वही जवाब देगा और बहस विमर्श करेगा।
उन्होंने कहा कि सभी प्रभारी मंत्री अपने निर्धारित जिलों में थानों की शांति समिति की बैठक में अमन का संदेश देते रहें। मुख्यमंत्री ने बगैर नाम लिए उन मंत्रियों पर निशाना साधा, जो बयानबाजी में सरकार की समय-समय पर किरकिरी कराते रहे हैं।



और भी पढ़ें :