राहु सितंबर 2020 तक रहेंगे मिथुन राशि में, कोहराम मचेगा जीवन में या सम्मान मिलेगा


राहु ग्रह से 23 सितंबर 2020 तक मिथुन राशि में रहेंगे। इस दौरान वे कुछ राशियों के जीवन में मान-सम्मान व यश-प्रतिष्ठा लेकर आ रहे हैं, वहीं कुछ राशियों के लिए परेशानी का सबब बनते दिखाई दे रहे हैं।
मेष : यदि आप रचनात्मक कार्य से जुड़े हैं तो यह समय आपके लिए शुभ एवं उन्नतिदायक होगा। इस समय आप कुछ उत्कृष्ट रचना कर सकते हैं, जो आपको ख्याति दिलाएगी। आप पारिवारिक उत्तरदायित्व जिम्मेदारी के साथ निभाएंगे। गृहस्थ सुख उत्तम रहेगा। स्त्री-संतान का पूर्ण सुख मिलेगा। भाइयों से कुछ वैचारिक मतभेद एवं मनमुटाव रहेगा। हालांकि मित्रों से सहयोग तथा प्रेम बना रहेगा। आपको इस समय अपने क्रोध पर नियंत्रण रखना होगा। स्वास्थ्य तथा आर्थिक स्थिति बेहतर रहेगी।
यदि राहु की दशा भी चल रही है तो भाग्योदय के नए अवसर प्राप्त होंगे। भाइयों, परिजनों एवं मित्रों से धोखा मिल सकता है।

वृषभ : आर्थिक स्थिति बेहतर रहेगी। वाणी मधुर एवं स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। यदि विवाहित हैं तो ससुराल से लाभ मिलेगा। घर-परिवार का पूर्ण सुख मिलेगा। नए वाहन के योग बनेंगे। बुद्धिबल तेज रहेगा अत: चतुराई से निर्णय लेंगे। शत्रुओं पर संघर्ष के बाद विजय प्राप्त की जा सकती है।
मिथुन : समय शुभ फलदायी रहेगा। बौद्धिक स्तर बेहतर रहेगा। आप कोई भी निर्णय बहुत सोच-समझकर लेंगे। विचारों में स्वतंत्रता रहेगी। धैर्य बना रहेगा। सभी के साथ स्नेह तथा समझौतावादी दृष्टिकोण रहेगा, परंतु गृहस्थ सुख में कुछ कमी रहेगी।

भौतिक सुख-सुविधाओं की कमी नहीं रहेगी। कार्य व्यापार में उन्नति के योग बनेंगे। यदि नौकरीपेशा हैं तो प्रमोशन संभव है। इस समय धन की आवक अच्छी रहेगी, साथ ही खर्चे बहुत बढ़े-चढ़े रहेंगे। कुल मिलाकर राहु का गोचर आपके लिए सुखप्रद रहेगा।
कर्क : इस समय यात्राएं अधिक होंगी, परंतु सार्थक नहीं होंगी। खर्च आशा से अधिक होंगे। यदि खर्चों पर आपका नियंत्रण नहीं रहेगा तो कर्ज लेने की स्थिति भी आ सकती है। धन की चिंता के कारण मानसिक तनाव रहेगा। धन कमाने के अनैतिक मार्ग आकर्षित करेंगे जिससे आपको बचना है। इस समय किसी को उधार देने से भी बचें अन्यथा गया हुआ धन वापस नहीं मिलेगा।

सिंह : राहु की यह स्थिति राजयोगकारी है। विपरीत परिस्थितियों में भी आप आगे बढ़ेंगे। रहस्यमयी विद्याओं में रुचि बढ़ेंगी। विद्यार्थियों के लिए अनुकूल समय नहीं है। पढाई में मन नहीं लगेगा तथा मन विचलित रहेगा। विद्या में बाधा आने के योग हैं।
भूमि को लेकर यदि कोई वाद-विवाद चल रहा हो तो विजय प्राप्त होगी। नई संपत्ति खरीदने के योग बन रहे हैं। कान संबंधी रोग हो सकता है। राहु की दशा-अंतरदशा भी यदि चल रही हो तो सरकारी कार्यों में सफलता अथवा सरकार से सहयोग, मान-सम्मान एवं धन प्राप्ति संभव है।

कन्या : राहु हानि नहीं करेगा। राहु राजयोग प्रदाता है। इस समय आपको धन, यश एवं प्रतिष्ठा की प्राप्ति होगी। यदि राजनीति में हैं तो आपका महत्वपूर्ण हस्तक्षेप रहेगा। इस समय आप जोखिमभरे कार्य हाथ में लेने से नहीं डरेंगे। भवन एवं वाहन का सुख मिलेगा।
राहु की दशा-अंतरदशा भी यदि चल रही है तो उन्नति के योग बनेंगे।

तुला : भौतिक सुविधाओं तथा पराक्रम में वृद्धि होगी। स्वभाव में साहस तथा वीरता की अधिकता रहेगी। किसी भी जोखिमभरे कार्य को करने में आप जरा भी नहीं हिचकिचाएंगे। बौद्धिक स्तर अच्छा रहेगा। निर्णय लेने में बुद्धिमता का परिचय देंगे।

राहु की दशा भी यदि चल रही हो तो भाग्योदय के अवसर प्राप्त होंगे। पदोन्नति के योग बनेंगे। धन की प्राप्ति होगी। यदि कुंडली में कालसर्प योग न हो तो दशा शुभफलदायी रहेगी।
वृश्चिक : आप जिस भी क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं तो आपकी प्रतिभा निखरेगी एवं प्रशंसा मिलेगी। विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए आप आगे बढ़ेंगे तथा सफलता एवं यश प्राप्त करके अपने खानदान का नाम रोशन करेंगे। इस समय शत्रुओं का नाश करने में आप सफल रहेंगे, परंतु स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा।
यदि राहु की दशा- अंतरदशा भी चल रही है तो यह समय आपके लिए शुभ फलदायी रहेगा।
धनु : विवाह योग्य जातकों के विवाह में विलंब होगा। वैवाहिक जातकों को स्त्री एवं संतान सुख मिलेगा। खर्चे बढ़ेंगे जिसके कारण गृहकलह होगा। प्रेम संबंधों में निराशा मिलेगी। परिश्रम के साथ किए गए प्रयासों में सफलता मिलेगी। स्वभाव में थोड़ी उग्रता बढ़ेगी अत: संयम से काम लें।

यदि राहु की दशा अंतरदशा भी चल रही है तो मिश्रित फलदायी समय होगा।

मकर : राहु राजयोग प्रदाता है। इस समय आप अपने शत्रुओं पर हावी रहेंगे। कोर्ट-कचहरी के मामलों में सफलता तथा बाधाओं से मुक्ति मिलेगी। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। यदि कोई रोग होगा भी तो ठीक होने की प्रबल संभावना रहेगी। खर्चे बढ़ेंगे तथा स्वभाव में साहस तथा वीरता की अधिकता रहेगी। आप निर्भीक होकर निर्णय लेंगे तथा अपने कार्यक्षेत्र में आगे बढ़ेंगे।
यदि राहु की दशा-अंतरदशा भी चल रही है तो शुभ फलों की प्राप्ति होगी

कुंभ : विद्यार्थियों के लिए समय ठीक नहीं है और कोई बाधा आ सकती है, परंतु चिंता न करें। विद्या एवं बुद्धि के बल पर आप अपने क्षेत्र में दक्षता प्राप्त करेंगे। भाइयों के साथ वैचारिक मतभेद तथा कार्यव्यापार में रुकावट आ सकती है। इस समय वाणी मधुर रहेगी। चतुराई के साथ आप अपने बिगड़े हुए कार्य पूरा करेंगे। बुद्धिबल सामान्य से अधिक रहेगा।
यदि राहु की दशा-अंतरदशा भी चल रही है तो शुभ फलों की प्राप्ति होगी, परंतु विशेष परिश्रम के साथ।

मीन : राहु की यह स्थिति शुभ नहीं है। धन के लिए राहु की यह स्थिति अच्छी है, परंतु सुख की अनुभूति नहीं होगी। भूमि, भवन एवं वाहन सुख के लिए समय अनुकूल है, परंतु सभी भौतिक सुख-सुविधाओं के होते हुए भी परेशानी बढ़ेगी। पिता के साथ वैचारिक मतभेद बढ़ेंगे।



और भी पढ़ें :