लाल किताब राशिफल 2021 : वृश्चिक राशि के लिए कैसा रहेगा अगला वर्ष

vrishchik rashifal 2021 in lal kitab
वर्ष 2020 तो दुनियाभर के लोगों को दु:ख करने वाला सिद्ध हुआ, परंतु अब लोगों को नए वर्ष से बहुत आशा है। हालात सामान्य होंगे और लोग फिर से पहले की तरह जीने लगेंगे। उम्मीदों से भरे इस वर्ष में लाल किताब के अनुसार किस राशि के लिए कैसा रहेगा यह वर्ष इस बारे में बहुत ही संक्षिप्त रूप से जानिए वृश्चिक राशि के बारे में।
ALSO READ:

लाल किताब राशिफल 2021 : धनु राशि के लिए कैसा रहेगा अगला वर्ष

वृश्चिक राशि :
1. यदि आपकी राशि वृश्चिक है तो यह वर्ष यात्रा के दृष्टिकोण से अति उत्तम रहेगा, परंतु व्यर्थ की यात्राएं ना करें तो ही बेहतर है। हालांकि परिवार का कोई सदस्य विदेश जाने की सोच रहा है तो, उसके लिए समय उत्तम रहेगा।

2. धार्मिक कार्यों में रुझान बढ़ने के चलते मान सम्मान बढ़ेगा। अध्यापन, इंजीनियरिंग, विधि एवं कानून आदि क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिए यह वर्ष अवसरों से भरा रहेगा। इसलिए कोई अवसर चूके नहीं।
3. परिवार में प्रसन्नता का महौल रहेगा। पारिवारिक आय में भी वृद्धि होगी, साथ ही घर-परिवार में किसी मांगलिक कार्यक्रम का आयोजन संभव हो सकता है।

4. जनवरी से फरवरी का समय उन छात्रों के लिए बेहत है जो प्रतियोगी परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। इसके बाद मार्च से अप्रैल का महीना अविवाहित लोगों के लिए उत्तम रहेगा क्योंकि इस दौरान विवाह प्रस्ताव मिल सकते हैं। अपनी जीवनसाधी के साथ घुमने फिरने के लिए यह समय उत्तम है।
5. जून-जुलाई के महीने में कोई चल-अचल संपत्ति खरीद सकते हैं। इस दौरान रुके हुए कार्य भी संपन्न होंगे और आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी।

6. नौकरीपेशा लोगों के लिए जुलाई से सितंबर का महीना पदोन्नति या ट्रांसफर वाला सिद्ध हो सकता है। हालांकि वरिष्‍ठ अधिकारियों का भरपूर सहयोग मिलेगा। सितंबर से अक्टूबर के बीच आपको नई जिम्मेदारी भी मिल सकती हैं। जिससे आपकी आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी। कई महत्वपूर्ण लोगों से संपर्क स्थापित होने के कारण भविष्य में इसका अच्छा फायदा मिलेगा।
7. यदि आप विदेश जाने का प्लान बना रहे हैं तो इस वर्ष नवंबर का महीना सर्वश्रेष्ठ है, परंतु दिसंबर में आपको सेहत का ध्यान रकश्रा होगा क्योंकि इस माह में आपके राशि के स्वामी आपकी ही राशि में विराजमान होंगे। कुल मिलाकर यह वर्ष सामान्य से बेहतर ही रहेगा।

8. इस वर्ष को और भी बेहतर बनाने के लिए प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ें। चावल और दूध का दान करें। गले या हाथ में चांदी पहनें। छल कपट से दूर रहें। किसी भी महत्वपूर्ण कार्य पर जाते समय माता से आज्ञा जरूर लें। मंगलवार के दिन बंदरों को गुड़-चना या केले खिलाएं।



और भी पढ़ें :