युवाओं को मुख्यमंत्री उमर से काफी उम्मीदें

जम्मू (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 1 जनवरी 2009 (21:09 IST)
जम्मू-कश्मीर का मुख्यमंत्री पद सम्भालने जा रहे नेता उमर अब्दुल्ला से घाटी के युवाओं को काफी उम्मीद है। वे चाहते हैं उमर राज्य में अवरुद्ध विकास बेरोजगारी के उन जख्मों पर मरहम लगाएँ, जो इलाके में आतंकवाद की विभीषिका की सबसे बड़ी वजह हैं।

जम्मू विश्वविद्यालय में एमबीए के छात्र विमल चौधरी ने कहा हमें उमर से बहुत उम्मीदें हैं, क्योंकि वे युवा हैं और स्थितियों के बारे में हमारी तरह ही सोचते हैं। बेरोजगारी रोकना, सूबे में विकास का ढाँचा तैयार करना तथा राज्य को आतंकवाद और अनिश्चितता की स्थिति से बाहर निकालना उनकी प्राथमिकता होना चाहिए।

आतंकवादी संगठनों द्वारा बेरोजगार युवकों का इस्तेमाल किए जाने की बात स्वीकार करते हुए उन्होंने कहा उमर को सूचना पार्क उद्योग जैव तकनीक तथा फार्मा इकाइयों की स्थापना और निवेशकों को जम्मू-कश्मीर की तरफ आकर्षित करके युवाओं के लिए रोजगार के दरवाजे खोलने पर ध्यान देना होगा।
ऐसे ही विचार कुछ अन्य छात्रों के भी थे। उन्हें उम्मीद है कि उमर सूबे की दोनों राजधानियों जम्मू और श्रीनगर को बेंगलुरु, हैदराबाद तथा पुणे की तर्ज पर विकसित करेंगे।

उन्होंने कहा पूर्व में विदेश राज्यमंत्री का पद सम्भाल चुके उमर को राज्य में उद्योग के साथ-साथ पर्यटन हस्तशिल्प तथा बागवानी को बढ़ावा देकर उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शित करने के लिए नीतियाँ और कार्यक्रम बनाने होंगे।
पेशे से शिक्षक संजय पंडित ने कहा उमर को सबसे पहले क्षेत्रीय तथा शहरी एवं ग्रामीण खाई पाटनी होगी। चिकित्सक ए. वानी ने कहा उमर को किसी अन्य के हस्तक्षेप से मुक्त सरकार चलाने का मौका दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा हमारा मानना है कि उमर भरसक कोशिश कर जम्मू-कश्मीर को एक विकसित राज्य में तब्दील कर देंगे।

उमर के मुख्यमंत्री चुने जाने से उत्साहित 37 वर्षीय अधिकारी पुनीत कुमार ने कहा इतिहास में पहली बार हमें अपनी उम्र का मुख्यमंत्री मिला है। उमर से पहले हुए राज्य के सभी मुख्यमंत्री 45 वर्ष से ज्यादा आयु के थे।
युवाओं के साथ-साथ बुजुर्गों को भी उमर से काफी उम्मीदें हैं। सेना के पूर्व अधिकारी भवानीसिंह ने कहा मुझे उम्मीद है कि जम्मू-कश्मीर अब विकास के रास्ते पर चलेगा। उमर अभी युवा और उत्साह से भरपूर हैं।

पुरानी पीढ़ियों को खोखला कर चुका भ्रष्टाचार और परिवारवाद उमर को प्रभावित नहीं करेगा और वे कथनी को करनी में तब्दील करेंगे। अन्य उम्रदराज लोगों का भी मानना है कि मुख्यमंत्री के रूप में उमर लोगों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करेंगे।



और भी पढ़ें :