40 फीसद कर्मचारी बदलेंगे नौकरियाँ

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 1 अप्रैल 2010 (19:30 IST)
बड़ी संख्या में कर्मचारी अगले छह माह के दौरान नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं। रोजगार पोर्टल टाइम्स जॉब्स डॉट कॉम के अनुसार, दूसरी कंपनियों में बेहतर की संभावनाओं के मद्देनजर आगामी महीनों में बड़ी संख्या में कर्मचारी नौकरी बदलने की तैयारी कर रहे हैं।

टाइम्स जॉब्स डॉट कॉम के के अनुसार, अगले छह में 40 प्रतिशत से ज्यादा कर्मचारी नौकरी बदलेंगे। यही नहीं, बेहतर संभावनाओं के मद्देनजर वे अपने कार्यक्षेत्र को भी बदल सकते हैं।

टाइम्स जॉब्स डॉट कॉम की ज्ञान एवं शोध विंग टीजे इनसाइट के सर्वेक्षण के अनुसार कि कर्मचारी कंपनी, उद्योग और यहाँ तक कि अपना कार्यक्षेत्र बदलने के लिए मानसिक रूप से तैयार हो चुके हैं।
सर्वेक्षण में करीब 20,000 कर्मचारियों को शामिल किया गया। सर्वेक्षण में शामिल ज्यादातर कर्मचारियों का कहना था कि उनके लिए नौकरी बदलने की सबसे बड़ी वजह वेतन है।

करीब 50 प्रतिशत कर्मचारियों का कहना था कि उन्हें अपनी वर्तमान कंपनी में वेतन वृद्धि की ज्यादा संभावना दिखाई नहीं दे रही है।
टाइम्स जॉब्स डॉट कॉम के उपाध्यक्ष विवेक मधुकर ने कहा कि मानव संसाधन प्रबंधकों के लिए यह काफी महत्वपूर्ण समय है। आपको अपने अच्छे कर्मचारी को न केवल अपने प्रतिद्वंद्वी से गँवाने के लिए तैयार रहना है, बल्कि रोजगार बाजार में किसी से भी आपको अपना अच्छा कर्मचारी खोना पड़ सकता है।

हालाँकि, नौकरी बदलने की सबसे प्रमुख वजह वेतन है, लेकिन जब कर्मचारी एक बार नौकरी बदलने का फैसला ले लेता है, तो वह इस बात पर विचार करता है कि दूसरी जगह उसे क्या काम करना होगा।
सर्वेक्षण में कहा गया है कि इन्हीं सब कारणों की वजह से फ्रेशर्स तथा मध्य स्तर के प्रबंधक भी अपने वर्तमान उद्योग को बदलने का विचार कर रहे हैं। 2009 में मंदी के दौर में इन पर सबसे ज्यादा प्रतिकूल असर पड़ा था।

सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है कि बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद और मुंबई के कर्मचारी दूसरे उद्योग में नई नौकरी की तलाश में हैं। विनिर्माण, वाहन, बीपीओ और कॉल सेंटरों में काम करने वाले 60 प्रतिशत कर्मचारी अपने उद्योग के बाहर नौकरी की तलाश कर रहे हैं।
वहीं दूसरी ओर निर्माण, सूचना प्रौद्योगिकी तथा साफ्टवेयर क्षेत्र के कर्मचारी अपने उद्योग में ही नई नौकरी की तलाश में हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :