तेल कंपनियों को डॉलर खरीद की सुविधा

मुंबई| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 28 अगस्त 2013 (23:06 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
मुंबई। रिजर्व बैंक ने सार्वजनिक क्षेत्र की तीन पेट्रोलियम कंपनियों को खरीद की सुविधा देने के लिए बुधवार को एक विशेष खिड़की खोली। इन कंपनियों को अपनी दैनिक विदेशी मुद्रा जरूरत पूरी करने के लिए हर महीने करीब 8.5 अरब डॉलर की दरकार होती है


केंद्रीय बैंक ने एक बयान जारी कर कहा, मौजूदा बाजार परिस्थितियों के आकलन के आधार पर रिजर्व बैंक ने सार्वजनिक क्षेत्र की तीन पेट्रोलियम कंपनियों (इंडियन ऑयल, एचपीसीएल व बीपीसीएल) की डॉलर की संपूर्ण दैनिक जरूरतें पूरी करने के लिए एक विशेष खिड़की खोलने का निर्णय किया है।

उल्लेखनीय है कि सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियां डॉलर की सबसे बड़ी खरीदार हैं और उन्हें औसतन 75 लाख टन कच्चा तेल का आयात करने के लिए हर महीने 8 से 8.5 अरब डॉलर की जरूरत पड़ती है। रिजर्व बैंक का यह कदम मुद्रा की विनिमय दर में तेज उतार-चढ़ाव पर अंकुश लगाने के लिए उठाया गया है।

रिजर्व बैंक ने कहा कि अदला-बदली सुविधा के तहत वह एक निर्धारित बैंक के जरिए तेल विपणन कंपनियों के साथ तय स्वरूप में डालर-रुपए की खरीद-बिक्री करेगा। यह सुविधा तत्काल प्रभाव से उपलब्ध होगी। उल्लेखनीय है कि डॉलर के मुकाबले रुपया आज 256 पैसे टूटकर नए रिकॉर्ड स्तर 68.80 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ। (भाषा)



और भी पढ़ें :