सत्यम घोटाले की जाँच जारी-सरकार

नई दिल्ली| भाषा|
हमें फॉलो करें
सत्यम घोटाले की जाँच के संबंध में सीबीआई ने अपनी ओर से जाँच के बाद नौ आरोपियों के विरुद्ध सात अप्रैल 2009 को न्यायालय में आरोपपत्र दाखिल किया गया तथा 24 नवंबर को एक पूरक आरोपपत्र दाखिल किया गया।


वरिन्दरसिंह बाजवा द्वारा पूछे गए प्रश्नों के लिखित उत्तर में कार्पोरेट कार्य मंत्री ने राज्यसभा को बताया कि गंभीर धोखाधड़ी जाँच पड़ताल कार्यालय (एसएफआईओ) के माध्यम से निगमित कार्य मंत्रालय ने एसएफआईओ की जाँच रिपोर्ट में सूचित कंपनी कानून से संबंधित पूर्णतया तकनीकी स्वरूप के उल्लंघनों के संबंध में अभियोजन दायर किए गए हैं।
उन्होंने बताया कि सीबीआई द्वारा तत्कालीन अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक, सीएफओ और उपाध्यक्ष (वित्त) के विरुद्ध शेयरधारकों को धोखा देने के लिए सात जनवरी 2010 को एक अन्य आरोपपत्र दाखिल किया गया। इस मामले में अभी जाँच पूरी नहीं की गई है क्योंकि कंपनी से विदेशों में निधियों के स्थानांतरण के मामले की जाँच जारी है।

खुर्शीद ने बताया कि भारतीय चार्टर्ड अकाउंटेन्ट संस्थान (आईसीएआई) द्वारा दी गई सूचना के अनुसार सत्यम से संबंधित आरोपों के लिए आईसीएआई के छह सदस्य जवाबदेह हैं। प्रारंभिक जाँच के पश्चात निदेशक (अनुशासन) ने भी छह सदस्यों को प्रथम दृष्टया दोषी पाया है तथा मामले की जाँच आईसीएआई की अनुशासन समिति द्वारा की जा रही है।

उन्होंने कहा कि अनुशासन समिति द्वारा नियमित सुनवाई की जा रही है तथा सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई अनुशासन समिति के निष्कर्षों के आधार पर होगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :