दो नावों की सवारी

Himesh
समय ताम्रकर|
IFM
हिमेश रेशमिया के बाद अब अदनान सामी को भी अभिनय का शौक लगा है। 100 किलो वजन कम करने के बाद अदनान काफी चहक रहे हैं। खबर है कि वे एक फिल्म में बतौर नायक के रूप में नजर आएँगे। गायन और अभिनय दो अलग विधाएं हैं और दोनों में कामयाबी हासिल करना अत्यंत ही टेढ़ी खीर है। हिमेश की किस्मत का फैसला तो 29 जून को होने वाला है जब उनके द्वारा अभिनीत फिल्म ‘आपका सुरुर’ दर्शकों के सामने आएंगी।

इन दोनों गायकों के पहले भी कई कलाकार ऐसे हुए हैं जिन्होंने गायन और अभिनय दोनों क्षेत्रों में किस्मत आजमाई हैं इनमें से कुछ को मजबूरीवश यह काम करना पड़ा।

जब गूंगी फिल्में बोलने लगी तो फिल्म में गीत-संगीत को बेहद महत्व दिया जाने लगा। एक ही फिल्म में दस-बीस गानें मामूली बात थी। उस समय ऐसे व्यक्ति को नायक या नायिका बनाया जाता था जो गाना-बजाना जानता हों। शुरूआती फिल्मों में ऐसे कई कलाकार नजर आएं जो अभिनय में बेहद लचर थे लेकिन गायकी की काबिलियत के कारण उन्हें फिल्मों में अवसर मिलें।
कुंदनलाल सहगल अच्छे गायक थे और अपनी गायकी के शौक की वजह से ही उन्हें फिल्मों में भी काम करना पड़ा। इसके विपरीत अशोक कुमार एक अच्छे अभिनेता थे, लेकिन हीरो बनने के लिए उन्हें ‘मैं बन की चिडि़या….’ जैसे गाने न चाहते हुए भी गाने पड़े।

पार्श्व गायन की सुविधा आ जाने के बाद दो नाव की सवारी बंद हुई। मखमली आवाज के लिए प्रसिद्ध तलत महमूद का व्यक्तित्व बहुत अच्छा था। उन्हें न चाहते हुए भी फिल्मों में अभिनय करना पड़ा। वे राजलक्ष्मी (1945), आराम (1951), रफ्तार (1955), सोने की चिडि़या (1958) जैसी कई फिल्मों में नजर आएं।
किशोर कुमार का किस्सा बड़ा अजीब है। किशोर दा को अपने भाई के विपरीत अभिनय के बजाय गायन में रूचि थी। लेकिन फिल्म निर्माताओं ने सोचा कि वे अशोक कुमार के भाई हैं और दर्शक उन्हें अभिनेता के रूप में पसंद करेंगे।

बस फिर क्या था, उन्हें अभिनेता बना दिया गया। किशोर कुमार ने अभिनय के नाम पर बेसिर-पैर हरकत की ताकि लोग उन्हें नापसंद करें। लेकिन हुआ इसका उल्टा। किशोर कुमार की ये हरकतें दर्शकों को बेहद अच्छी लगीं और उन्हें न चाहते हुए भी कई फिल्मों में काम करना पड़ा।
एक फिल्म में जो गाना उन पर फिल्माया जा रहा था वह मोहम्मद रफी ने गाया था। उस गाने के फिल्मांकन के समय किशोर के दिल पर क्या बीत रही होगी ये समझा ही जा सकता है।



और भी पढ़ें :