कैसे लगाएं बालों में मेहंदी

डॉ. प्रीति सिंह

WD
प्रौढावस्था की शुरुआत से ही बालों में सफेदी आना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। इससे पहले यदि बाल सफेद होने लगते हैं तो इसे एक समस्या मानना चाहिए। असमय सफेदी के कई कारण हो सकते हैं।


शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी, स्त्रियों में मुख्य रूप से रक्तल्पता, कोई बीमारी जो लंबे समय तक रही हो, कुछ ऐलोपैथी दवाइयां भी असमय सफेदी का कारण हो सकती हैं। प्रायः लोग असमय सफेदी की स्थिति में बालों में मेहंदी लगाते हैं। मेहंदी कौन-सी लें एवं इसमें कौन सी जड़ी-बूटियां डालें, इस बारे में कोई जानकारी नहीं होती। मेहंदी का मिश्रण यदि संतुलित न हो तो बालों में रुखापन आ सकता है अथवा सफेदी बढ़ भी सकती है।
WD
अक्सर लोग विभिन्न जड़ी बूटियां उचित मात्रा का ध्यान रखे बिना अंदाज में डाल देते हैं। यह भी याद रखना जरूरी है कि जो जड़ी-बूटियां बाजार से ली जा रही हैं, वे अधिक पुरानी न हों। जड़ी-बूटियों की भी एक्सपायरी डेट होती है लेकिन अभी हमारे देश में इस दिशा में अधिक शोध नहीं हुए हैं।

बाजार में किराने की दुकानों में जड़ी-बूटियां कब से हैं इसकी कोई जानकारी नहीं मिलती। इसी तरह घर में भी अधिक समय तक इन्हें नहीं रखा जा सकता। अक्सर बाज़ार में मिलने वाली काली मेंहदी को लोग सुरक्षित मान लेते हैं। यह हमेशा सुरक्षित नहीं होती क्योंकि निर्माता अक्सर इसमें घातक रसायन मिलाते हैं।



और भी पढ़ें :