भारत सरकार ने लॉन्च किया अपना ऐप स्टोर

तुषार बनर्जी, बीबीसी संवाददाता

BBC

संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सिब्बल ने शुक्रवार को इस ऐप स्टोर का औपचारिक उद्‍घाटन किया। सरकारी ऐप स्टोर में इस समय 173 ऐप डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं, जिसमें से 61 डेमो ऐप हैं और उनका पूरा वर्ज़न प्रतीक्षित है। यहां मिलने वाले ऐप ऐंड्रॉएड और जावा सपोर्ट करने वाले स्मार्टफ़ोन पर चलेंगे।

खास बातें : भारत सरकार के प्ले स्टोर की खास बात यह है कि इसमें महिलाओं की सुरक्षा से जुड़े ऐप्स को तरजीह दी गई है। ऐप स्टोर में मौजूद ‘रक्षक’ एक ऐसा ऐप है जो खास तौर पर महिलाओं के लिए बनाया गया है।

यूज़र को किसी प्रकार के खतरे की स्थिति में सिर्फ एक बटन दबाना होगा जिससे एक आपातकालीन मैसेज यूज़र के चार मित्रों और रिश्तेदारों के पास चला जाएगा। ये चार मित्र कौन होंगे यह चुनने की आज़ादी यूज़र को मिलेगी।

साथ ही, इस ऐप स्टोर में अंग्रेज़ी से कई क्षेत्रीय भाषाओं में अनुवाद के भी ऐप्स मौजूद हैं, इस ऐप स्टोर में। राशन कार्ड, पोस्ट ऑफिस और चुनावी जानकारी से संबंधित ऐप्स भी ऐप स्टोर में रखे गए है। कुछ ऐप्स राज्यों के आधार पर भी बांटे गए है। शुरू में नौ राज्यों से संबंधित ऐप इस स्टोर में उपलब्ध कराए गए हैं. ये राज्य हैं- आंध्रप्रदेश, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, नागालैंड, राजस्थान, सिक्किम, उत्तरप्रदेश और पश्चिम बंगाल।

हालांकि इस ऐप स्टोर की सबसे बड़ी कमी यही है कि यहां से ऐप डाउनलोड करना गूगल प्ले के मुकाबले कठिन है। कम्प्यूटर से किसी भी ऐप पर डाउनलोड करते ही ऐप की मूल ‘एपीके’ या ‘जेडीके’ फ़ाइल आपके कम्प्यूटर पर भेज दी जाती है जिसे डाटा केबल या कार्ड रीडर के माध्यम से मोबाइल पर डालकर इंस्टाल करना पड़ता है। हालांकि अगर आप सीधे मोबाइल से ही इस ऐप स्टोर को खोलें तो डाउनलोड प्रक्रिया थोड़ी आसान हो जाती है।

BBC Hindi|
अगर आपके पास एंड्रॉएड फ़ोन है तो आप अपने गूगल प्ले स्टोर पर ज़रूर जाते होंगे, लेकिन क्या आपने भारत सरकार का प्ले स्टोर देखा? जी हां, केंद्र सरकार ने एक ऐसा लॉन्च किया है जिसमें आपको सरकारी जानकारियां देने वाली ढेरो ऐप मिलेंगे। ये ऐप फिलहाल बिलकुल मुफ़्त हैं।

गूगल प्ले में ये प्रक्रिया ज्यादा आसान है जहां कम्प्यूटर से डाउनलोड क्लिक करते ही ऐप आपके मोबाइल पर इंस्टाल हो जाती है। बशर्ते आपके फ़ोन में इंटरनेट चालू हो।

और भी पढ़ें :