0

Coronavirus से निपटने के लिए कितना तैयार है आपका घर, जानिए 8 जरूरी बातें

सोमवार,मई 17, 2021
0
1
जब स्किन की सतह पर गंदगी, डेड सेल्स या एक्स्ट्रा ऑयल जमने लगता है तो पोर्स बंद हो जाते हैं। चेहरे पर जमा डस्ट से एक्ने की समस्या होने लगती है। धीरे - धीरे यह चेहरे पर फैलने भी लगती है और चेहरा बेकार नजर आने लगता है। चेहरे पर जमा गंदगी को घर पर कई ...
1
2
गर्मी का मौसम यानी अत्यधिक तापमान और कई परेशानियां। इस मौसम में चुकंदर का सेवन रामबाण माना जाता है। सलाद और जूस के रूप में प्रयोग किया जाने वाला लाल चुकंदर सेहत
2
3
घुटने का कालापन एक आम समस्या है, कई बार घुटने के कालेपन की वजह से फैंसी ड्रेस पहनने में भी हिचकिचाहट होती है। हालांकि घरेलू उपचार लगातार करने पर कालापन खत्म भी हो सकता है। तो आइए जानते हैं लाॅकडाउन में कैसे घर में रहकर घुटने के कालेपन को कम किया
3
4
अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस हर साल 15 मई को मनाया जाता है। हर साल विश्व परिवार दिवस की संयुक्त राष्ट्र द्वारा एक थीम तैयार की जाती है। इस बार कोरोना काल को
4
4
5
कोरोना वायरस महामारी के पहले लॉकडाउन के दौरान लोगों में बहुत खौफ था, इस बीमारी से काफी डरे हुए थे। पूरे देश में लगे लॉकडाउन में लोगों ने स्वेच्छा से कोविड नियमों का पालन किया लेकिन जब एक बार फिर से लॉकडाउन लगाया गया तो उसकी अनदेखी की जा रही है, कहते ...
5
6
अगर आप बालों की समस्या से परेशान हैं तो मेहंदी लगाने से आपकी सारी परेशानियां खत्म हो सकती हैं। मेहंदी एक नेचुरल कंडीशनर का काम करता है,
6
7
आज इंटरनेशनल नर्स डे है यानी अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस। इस खास दिन को हर साल मनाने के पीछे एक रोचक किस्सा है। जिनके सम्मान में यह दिन मनाया जाता है। लेकिन इस दिन को वर्तमान की परिस्थिति से जोड़कर देखा जाए तो इस दिन का महत्व और अधिक बढ़ जाता है। जी हां, ...
7
8
चेहरे की खूबसूरती बरकरार रखने के लिए इसकी सही देखभाल की भी जरूरत होती है और इसके लिए सही समय पर चेहरे पर फेशियल करना भी जरूरी है। लेकिन इस वक्त जब लॉकडाउन चल रहा है तो पार्लर में जाकर फेशियल करना तो मुमकिन है नहीं। लेकिन इस बात से परेशान होने की कोई ...
8
8
9
कोरोना काल में घर में रहकर भी स्किन एकदम ड्राई और बेजान होने लगी है। कई लोगों का यह भी मानना है कि घर में रहने पर स्किन एकदम अच्छी रहेगी। ऐसा नहीं है। इसके लिए आपको घर में रहकर भी अपनी स्किन की देखभाल करना जरूरी है। तो आइए जानते हैं कोविड काल में घर ...
9
10
कोरोना महामारी के दौर में अधिकतम कार्य घर से ही किया जा रहा है। कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम का नया कल्चर विकसित हुआ है। वर्चुअल मीटिंग में भी कई सारी बातें हैं जो बहुत मायने रखती है। तो आइए जानते हैं वर्चुअल मीटिंग में किन बातों का ध्यान रखें -
10
11
कोरोना वायरस की दूसरी लहर पूरी देश में तेजी से फैल रही है। इसकी चपेट में हर आयु वर्ग के लोग आ रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर अब और कितना विकराल रूप
11
12
ए खुदा बंदों को महसूस हो तेरी मौजूदगी औ ख़ुदाई, इस वास्ते तूने इस ज़मी पर इन्सान की "माँ" बनाई !
12
13
माँ देहरी पर सजती कुंकुम रंगोली है, घर को आलोकित करता निष्कंप दीपक है, अंजुलि से 'आदित्य' को चढ़ता आस्था का अर्घ्य है और चमकते चंद्रमा सा एक शीतल धैर्य है। वह जीवन की पाठशाला की गुरुजी ही नहीं बल्कि चॉक, कलम, पट्‍टी और तड़ातड़ पड़ती छड़ी भी वही है।
13
14
फिर एक मदर्स डे आया है और मैं एक खत लिख रही हूँ...किसे लिख रही हूँ नहीं जानती... किसे कहूं अपने मन की व्यथा? एक तरफ मैं हूँ मां....दूसरी तरफ एक सिस्टम है और बीच में है जिंदगियों को निगलता कोरोना... और हम मना रहे हैं (अन) हैप्पी मदर्स डे”
14
15
मेरी मां मेरी सबसे बड़ी अध्यापक थीं- करुणा, प्रेम, निर्भयता की एक शिक्षक। अगर प्यार एक फूल के जितना मीठा है, तो मेरी मां प्यार का मीठा फूल है।
15
16
मां पर कौन पढ़ता है कविता, कहानी या अन्य साहित्य। पत्नी या प्रेमिका का स्वार्थपूर्ण प्रेम लोगों को पसंद हो सकता है, लेकिन मां का नि:स्वार्थ प्रेम आज की पीढ़ी को पसंद नहीं। उनके दिल में मां के प्रति संवेदनाएं नहीं हैं क्योंकि हमारी शिक्षा और हमारा ...
16
17
मां पर बचपन में एक कहानी पड़ी थी जो मुझे आज भी याद है। जब भी मुझे किसी बात को लेकर मां पर गुस्सा आता है तो मुझे यह कहानी याद आ जाती है। वह लोग जो अपनी मां पर किसी ना किसी बात को लेकर क्रोधित होते रहते हैं। मां से ज्यादा पत्नी या प्रेमिका को महत्व ...
17
18
मां के प्यार और समर्पण को कभी भी जताया नहीं जा सकता है। लेकिन फिर भी एक दिन ऐसा भी है जो पूरी तरह मां को समर्पित होता है, इस दिन को मातृत्व दिवस (मदर्स डे) कहते हैं।
18
19
PCOD आज के वक्त में सबसे कॉमन बीमारी महिलाओं को होने लगी है। यह बीमारी जरूर आम हो सकती है है। लेकिन इसका प्रभाव जान ले सकता है।
19