हाथरस केस : RLD का आरोप, एनकाउंटर और लाठीचार्ज से विपक्ष की आवाज दबाना चाहती है योगी सरकार

अवनीश कुमार| Last Updated: सोमवार, 5 अक्टूबर 2020 (10:27 IST)
लखनऊ। के हाथरस में गुड़िया (काल्पनिक) परिवार के घर संवेदना व्यक्त करने गए के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व सांसद जयंत चौधरी और रालोद कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए वेबदुनिया से बातचीत के दौरान राष्ट्रीय लोकदल के प्रवक्ता अनिल दुबे ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार अपनी एनकाउंटर और लाठीबाज पुलिस द्वारा विपक्ष की आवाज दबाने की नाकाम कोशिश कर रही है। निहत्थे कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर सरकार लोकतंत्र का गला घोटना चाह रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने भारी बहुमत की सरकार रोजगार और विकास की उम्मीद से बनाई थी, परंतु यह सरकार प्रदेश में अपराधों और अपराधियों से लड़ने की बजाय विपक्ष की आवाज को दबाने में लगी हुई है।
प्रत्येक जनपद में मासूम बच्चियों, छात्राओं और महिलाओं के साथ अपहरण, बलात्कार और हत्याओं की लगातार वृद्धि हो रही है। जब सरकार विपक्ष द्वारा किसी घटना में चारों ओर से घिर जाती है तब जनता और विपक्ष के साथ-साथ पीड़ित परिवार के साथ सरकार की दमनकारी शक्तियां सरकार की नाकामी छिपाने की क्रियाओं का सहारा लेती हैं जैसा कि हाथरस में हो रहा है।
भाजपा का सच सामने आने लगा है तो अब हमारे नेता व कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया करवाया जा रहा है। बीजेपी सरकार से राष्ट्रीय लोकदल मांग करता है कि हमारे नेता जयंत चौधरी और कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों को दंडित किया जाए।
रविवार को राष्ट्रीय दल के नेता व पूर्व सांसद जयंत चौधरी अन्य कार्यकर्ताओं के साथ हाथरस पीड़िता के घर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात करने गए थे, लेकिन इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया था। इसमें पूर्व सांसद जयंत चौधरी और कार्यकर्ता लाठीचार्ज की चपेट में आ गए।



और भी पढ़ें :