वीर सावरकर का चित्र लगाने पर कांग्रेस का ऐतराज, योगी ने किया था अनावरण

Last Updated: बुधवार, 20 जनवरी 2021 (15:14 IST)
लखनऊ। उत्‍तरप्रदेश विधान परिषद में वीथिका में का चित्र लगाने को लेकर ने कड़ा जताया है। परिषद में पार्टी के नेता दीपक सिंह ने सभापति रमेश यादव को पत्र लिखकर सावरकर के कार्यों को देशविरोधी बताया और वीर सावरकर का चित्र हटाकर उसे भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में लगाने की मांग की है। सभापति रमेश यादव ने प्रमुख सचिव को तथ्यों की जांच करने के निर्देश दिए हैं।
ALSO READ:
कांग्रेस को खून से बहुत प्यार है, अब वह खेती को खून कह रही है : प्रकाश जावड़ेकर
दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को विधान परिषद में चित्र वीथिका का अनावरण किया था। उत्‍तरप्रदेश विधान परिषद का सौंदर्यीकरण कराने के साथ ही वहां चित्र वीथिका (पिक्चर गैलरी) बनाई गई है जिसमें तमाम स्वतंत्रता सेनानियों, क्रांतिकारियों के चित्र लगाए गए हैं, इसमें वीर सावरकर का चित्र भी शामिल है। कांग्रेस से विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने मंगलवार को सभापति को पत्र लिखकर कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों वक्रांतिकारियों के बीच सावरकर का चित्र लगाना स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और महापुरुषों का अपमान है।
सिंह ने पत्र में कहा कि वीर सावरकरजी ने नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की आजाद हिन्द फौज के विरुद्ध अंग्रेजों से मिलकर युद्ध किया, अपने समर्थकों को अंग्रेजी सेना में भर्ती कराकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के खिलाफ युद्ध में अंग्रेजों की मदद की। अंग्रेजों की 'बांटो और राज करो' नीति में हिन्दू-मुस्लिम के बीच लड़ाई करवाकर अंग्रेजों की मदद की। मोहम्मद अली जिन्ना ने दो राष्ट्र की बात की तो सावरकरजी ने भी अपने अहमदाबाद के अधिवेशन में दो राष्ट्र की बात की।
उत्‍तरप्रदेश विधान परिषद के सभापति और मुख्‍यमंत्री ने मंगलवार को विधान परिषद के सौंदर्यीकरण कार्यों का लोकार्पण एवं चित्र वीथिका के उद्घाटन के साथ ही परिषद के वर्तमान सदस्‍यों की पट्टिका का अनावरण भी किया था। योगी ने मंगलवार को कहा था कि महामना पंडित मदन मोहन मालवीय, पूर्व मुख्यमंत्री पंडित गोविंद बल्लभ पंत, पूर्व मुख्यमंत्री डाक्‍टर संपूर्णानंद, सर तेज बहादुर सप्रू, प्रख्यात कवयित्री महादेवी वर्मा आदि का इस सदन से जुड़ाव रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा था कि विधान परिषद में लोकार्पित चित्र वीथिका हम सबको प्रेरणा प्रदान करेगी। चित्र वीथिका में सावरकर के चित्र को देखकर उन्होंने कहा कि सावरकरजी का व्यक्तित्व प्रत्येक भारतवासी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। (भाषा) (सांकेतिक चित्र)



और भी पढ़ें :