गाजियाबाद के श्मशान घाट की छत गिरने से 23 लोगों की मौत, CM योगी ने मांगी रिपोर्ट

Last Updated: रविवार, 3 जनवरी 2021 (22:48 IST)
(उप्र)। के में रविवार को एक श्मशान घाट पर छत ढह जाने से 23 लोगों की मौत हो गई, जबकि कम से कम 15 अन्य घायल हो गए। ये सभी लोग एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार में पहुंचे थे। पुलिस ने यह जानकारी दी।
पुलिस ने बताया कि जब छत ढही तो बारिश से बचने के लिए कई लोग इमारत के नीचे खड़े थे। इनमें से अधिकतर लोग जयराम के रिश्तेदार थे, जिनका उस वक्त वहां अंतिम संस्कार हो रहा था।

बचावकर्मी यह सुनिश्चित करने के लिए घंटों तक मलबा हटाते रहे कि कहीं कोई और उसमें न फंसा हो। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की टीम मुरादनगर के उखलारसी भेजी गयी है, जहां यह हादसा हुआ।
अधिकारियों ने रविवार शाम को बताया कि इस घटना में 23 लोगों की मौत होने के अलावा 15 अन्य को घायल अवस्था में विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि घायलों की संख्या अधिक हो सकती है, क्योंकि कुछ अन्य को उनके रिश्तेदार घटनास्थल से ले गए। उत्तरप्रदेश के ने इस हादसे में लोगों की मौत पर दु:ख जताया है। उन्होंने मृतकों के परिजन के लिए दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने मेरठ के संभागीय आयुक्त और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (क्षेत्र) को इस घटना के बारे में रिपोर्ट देने का भी निर्देश दिया है।

केंद्रीय मंत्री और गाजियाबाद के सांसद वीके सिंह तथा पुलिस एवं नागरिक प्रशासन के अधिकारियों ने घटनास्थल का दौरा किया। उत्तरप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री एवं स्थानीय भाजपा विधायक अतुल गर्ग ने यहां सरकारी अस्पताल में कुछ घायलों से मुलाकात की।

पीएम मोदी ने जताया दु:ख : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तरप्रदेश के मुरादनगर में एक श्मशान घाट में शेल्टर की छत ढह जाने से 23 लोगों की मौत हो जाने पर दु:ख जताते हुए मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की।

मोदी ने हिन्दी में ट्वीट किया उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दु:ख पहुंचा है। राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटी है। इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।



और भी पढ़ें :