Indian Railways: बच्चों के टिकट बुकिंग के नियम में नहीं हुआ कोई बदलाव, रेलवे ने जारी किया बयान

पुनः संशोधित बुधवार, 17 अगस्त 2022 (23:47 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। भारतीय रेलवे (indian railways) बच्चों के लिए (ticket booking) के नियम में कोई बदलाव नहीं कर रहा है। रेलवे की ओर से बुधवार को बयान जारी करके इसकी जानकारी दी गई। भारतीय रेल ने कहा कि ट्रेन से यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकट बुकिंग के नियम में कोई बदलाव नहीं किया गया है।


भारतीय रेल (Indian Railways) ने बुधवार को स्पष्ट किया कि ट्रेन से यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकट बुकिंग के नियम में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

कुछ खबरों में दावा किया गया था कि ‘1 से 4 साल तक के बच्चों से अब वयस्क किराया वसूला जाएगा’ जिसके बाद रेलवे ने इस संबंध में स्पष्टीकरण जारी किया है।

रेल मंत्रालय के 6 मार्च 2020 के एक जारी सर्कुलर में कहा गया है कि 5 साल से कम उम्र के बच्चे मुफ्त में यात्रा करेंगे। हालांकि उस स्थिति में बच्चे के लिए एक अलग बर्थ या सीट उपलब्ध नहीं कराई जाएगी।
सर्कुलर में यह भी कहा गया था कि अगर यात्री को अपने 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए अलग से सीट या बर्थ की जरूरत है तो उनसे वयस्कों वाला किराया लिया जाएगा।

हाल ही में कुछ मीडिया खबरों में यह दावा किया गया है कि भारतीय रेल ने ट्रेन में 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए टिकट बुकिंग संबंधी नियम बदल दिया है।

खबरों में कहा गया है कि ‘अब एक से चार साल की उम्र के बच्चों के लिए ट्रेन में सफल पर टिकट लेना होगा।’रेलवे ने बयान में कहा है कि यह समाचार और मीडिया रिपोर्ट भ्रामक हैं। यह सूचित किया जाता है कि रेलवे ने ट्रेन में यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकट की बुकिंग के संबंध में कोई बदलाव नहीं किया है।
बयान में कहा गया है कि यात्रियों की मांग पर उन्हें टिकट खरीदने और अपने 5 साल से कम उम्र के बच्चे के लिए बर्थ बुक करने का ऑप्शन दिया गया है। अगर उन्हें अलग बर्थ नहीं चाहिए तो बच्चे पहले की तरह ही नि:शुल्क यात्रा कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :