बिडेन चीन के प्रति नरम रुख रख सकते हैं, जो भारत के लिए अच्छा नहीं

Last Updated: सोमवार, 19 अक्टूबर 2020 (12:44 IST)
न्यूयॉर्क। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बेटे ने राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत के लिए वे सही नहीं हैं, क्योंकि चीन के प्रति उनका रुख नरम हो सकता है। डोनाल्ड ट्रंप जूनियर अपने 74 वर्षीय पिता के राष्ट्रपति पद के लिए प्रचार अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं। अमेरिका में 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव है।
न्यूयॉर्क में लॉन्ग आइलैंड में भारतीय-अमेरिकी समुदाय के सदस्यों से ट्रंप जूनियर ने कहा कि हमें चीन के खतरे को समझना होगा और इसे भारतीय-अमेरिकियों से बेहतर शायद कोई नहीं जानता।

अपनी किताब 'लिबरल प्रिविलेज' की सफलता के जश्न के लिए आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने यह बात कही। इस किताब में जो बिडेन के परिवार, खासकर उनके बेटे हंटर बिडेन के खिलाफ लगे के आरोपों का जिक्र है।
उन्होंने कहा कि इस दौड़ में प्रतिद्वंद्वियों को देखें तो आपको क्या लगता है कि चीन ने हंटर बिडेन को 1.5 अरब डॉलर इसलिए दिए, क्योंकि वे एक बढ़िया उद्योगपति हैं या फिर वे जानते हैं कि बिडेन परिवार को खरीदा जा सकता है और चीन के प्रति उनका रुख नरम होगा।
ट्रंप जूनियर का इशारा 'न्यूयॉर्क पोस्ट' में बिडेन परिवार के खिलाफ हाल ही किए गए भ्रष्टाचार के आरोपों के खुलासे की ओर था। उन्होंने कहा कि इसलिए वे (जो बिडेन) भारत के लिए सही नहीं हैं, जो बिडेन ने अपने खिलाफ लगे सभी आरोपों को खारिज किया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :