मंगलवार, 27 जुलाई 2021

भारत के लिए आसान नहीं होने वाली टेबल टेनिस में राह, चीन जापान के धाकड़ खिलाड़ियों से जल्द होगा सामना

Last Updated: गुरुवार, 22 जुलाई 2021 (15:20 IST)
भारतीय खिलाड़ियों को बुधवार को तोक्यो ओलंपिक में मुश्किल ड्रा मिला जिसमें और मनिका बत्रा की जोड़ी को शुरूआती मुकाबले में ही तीसरी वरीय जोड़ी से भिड़ना होगा। शरत और मनिका शनिवार को लिन युन जू और चेंग आई चिंग की चीनी ताइपे की तीसरी वरीय जोड़ी के खिलाफ अपना अभियान शुरू करेंगे।
हालांकि मनिका (62 रैंकिंग) को एकल के पहले दौर में आसान ड्रा मिला है जिसमें वह ब्रिटेन की हो टिन टिन से भिड़ेंगी जो उनसे रैंकिंग में 32 पायदान नीचे हैं।अगर वह पहली बाधा पार कर लेती हैं तो उनकी भिड़ंत फिर यूक्रेन की मार्गरीटा पेसोत्सका से होगी।

शरत और मनिका ने मार्च में एशियाई ओलंपिक क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट के फाइनल में कोरिया के सांग सु ली और जिही जनियोन की आठवीं रैंकिंग की जोड़ी को हराकर मिश्रित युगल में ओलंपिक कोटा पक्का किया था।
पुरूषों के ड्रा में शरत और साथियान ज्ञानशेखरन को क्रमश: 20वीं और 26वीं वरीयता मिली है और दोनों को पहले दौर में बाई मिली है। उनके दूसरे दौर के प्रतिद्वंद्वी का पता पहले दौर के मैचों से होगा।
दोनों के लिये आगे की राह आसान नहीं होगी क्योंकि शरत अपना मुकाबला जीतने के बाद तीसरे दौर में रियो ओलंपिक के चैम्पियन चीन के मा लोंग (दूसरे वरीय) से भिड़ सकते हैं।
साथियान अगर दूसरे दौर का मैच जीत जाते हैं तो वह तीसरे वरीय जापान के तोमोकाजू हारिमोटो के सामने हो सकते हैं।

वहीं महिला एकल में सुर्तिथा मुखर्जी पहले दौर में स्वीडन की लिंडा बर्गस्ट्रोम से भिड़ेंगी और जीतने की स्थिति में यह भारतीय पुर्तगाल की यु फु के सामने होगी।(भाषा)



और भी पढ़ें :