इस देश को नंबर 1 बनाया भारतीय ओलंपिक विजेता कोच ने, कल होगी भारतीय निशानेबाजों की अग्निपरीक्षा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 23 जुलाई 2021 (22:33 IST)
टोक्यो: रियो ओलंपिक में नाकामी के बाद से लगातार अपने प्रदर्शन में सुधार कर रहे भारतीय निशानेबाज टोक्यो में पदकों के साथ उस मलाल को मिटाने की कोशिश करेंगे और इस बार भारतीय दल से एक या दो नहीं बल्कि चार पदकों की उम्मीद है।
यूं तो भारत के 15 निशानेबाजों में से सभी पदक जीतने में सक्षम हैं लेकिन कुछ को सबसे प्रबल पदक उम्मीद माना जा रहा है। इनमें से एक सौरभ चौधरी हैं जिनका सामना ओलंपिक और विश्व चैम्पियनों से होना है। पहले दिन पुरूषों की दस मीटर एयर पिस्टल में चौधरी और अभिषेक वर्मा भारत की चुनौती पेश करेंगे।

महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में कल अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वालारिवन की तकदीर का भी फैसला होगा । भारत के पास यह पदकों का खाता खोलने का भी मौका रहेगा।
तीन बार की आईएसएसएफ विश्व कप स्वर्ण पदक विजेता चंदेला कोरोना संक्रमण का शिकार हो गई थी और क्रोएशिया अभ्यास सह प्रतिस्पर्धा दौरे पर रवाना होने से ठीक पहले उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। उनका यह दूसरा ओलंपिक है और रियो में पैर में चोट के कारण वह खेल नहीं सकी थी।

दुनिया की नंबर एक इलावेनिल देश के सर्वश्रेष्ठ राइफल निशानेबाजों में से है और ओलंपिक पदक विजेता गगन नारंग पिछले सात साल से उनका मार्गदर्शन कर रहे हैं।
चौधरी ने अपने छह साल के कैरियर में इतनी कामयाबी पाई है कि वह टोक्यो में पदक की उम्मीदों में से है।गांव के मेले में शौकिया निशाने लगाकर कैरियर की शुरूआत करने वाले चौधरी ने टोक्यो तक लंबा सफर तय किया है।

दूसरे दिन भारत की और यशस्विनी सिंह देसवाल दस मीटर एयर पिस्टल में उतरेंगी। पुरूषों की दस मीटर एयर राइफल में दिव्यांश सिंह पंवार और दीपक कुमार चुनौती पेश करेंगे।
निशानेबाजी स्पर्धा के आखिरी दौर में राही सरनोबत, ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर, अंजुम मुद्गिल, तेजस्विनी सावंत, संजीव राजपूत और दो स्कीट निशानेबाज मैराज अहमद खान और अंगद वीर सिंह बाजवा उतरेंगे।

सरनोबत ने हाल ही में आईएसएसएफ विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता है। वहीं 18 वर्ष के पंवार अब तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छह स्वर्ण पदक जीत चुके हैं।
ओलंपिक निशानेबाजी स्पर्धा से पहले भारतीय कोच अच्छे प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त
की कोच दीपाली देशपांडे और रौनक पंडित ने यहां टोक्यो ओलंपिक में निशानेबाजों के पहले बड़े मुकाबले की पूर्व संध्या पर बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद जतायी।

शनिवार को शुरू होने वाली निशानेबाजी स्पर्धाओं में अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वलारिवान महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी। इसका आयोजन असाका रेंज में होगा।
इसके बाद पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल क्वालिफिकेशन और फाइनल में सौरभ चौधरी और अभिषेक वर्मा चुनौती पेश करेंगे।

राइफल और पिस्टल दोनों के कोच को खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।

राष्ट्रीय राइफल कोच दीपाली ने कहा, ‘‘ सभी लड़कियां (महिला खिलाड़ी) प्रतिस्पर्धा को लेकर उत्साहित हैं और आज की योजना के अनुसार उन्हें प्रशिक्षण दिया गया है। हम उनके कल के अच्छे प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त हैं।’’
पिस्टल कोच रौनक ने कहा, ‘‘ हाँ लड़कों (पुरुष खिलाड़ी) ने आज दल के अन्य सदस्यों के साथ एक घंटे के लिए अभ्यास किया। वे सभी तैयार हैं। हम सभी प्रतियोगिताओं के शुरू होने की प्रतीक्षा कर रहे है।

निशानेबाजी में भारत के रिकॉर्ड 15 खिलाड़ी चुनौती पेश करेंगे जिसमें दो प्रतियोगिताओं का फाइनल शनिवार को होगा। (भाषा)

यह रहेगा शेड्यूल-

सुबह 05:00 बजे : महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल क्वालीफिकेशन में अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वालारिवन

सुबह 07:15 बजे: महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल फाइनल

सुबह 09:30 बजे: पुरुषों के 10 मीटर एयर राइफल क्वालिफिकेशन में अभिषेक वर्मा और सौरभ चौधरी।

दोपहर 12 बजे : पुरुषों का 10 मीटर एयर राइफल फाइनल



और भी पढ़ें :