ओलंपिक में हार के बाद हॉकी खिलाड़ी के घर के बाहर मना रहे थे जश्न, 1 आरोपी गिरफ्‍तार

निष्ठा पांडे| Last Updated: गुरुवार, 5 अगस्त 2021 (17:07 IST)
हरिद्वार। भारतीय महिला हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया के शरारती पड़ोसियों ने भारतीय महिला हॉकी टीम की हार पर खुशियां जाहिर कर पूरे देश को शर्मसार कर दिया।वंदना के परिजनों के इसके खिलाफ में रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद पुलिस ने 3 आरोपियों में से एक को गिरफ्तार कर लिया है।
भारतीय महिला हॉकी टीम ने इतिहास रचते हुए में सेमीफाइनल में प्रवेश किया था तो देशभर में जश्न का माहौल था। कल जब टीम के शानदार खेल के बावजूद मैच में हार हो गई तो देशभर में निराशा छा गई थी और वंदना के गांव में भी गम का माहौल था। मगर हरिद्वार में हॉकी टीम की सुपर स्टार खिलाड़ी वंदना कटारिया के पड़ोस में कुछ शरारती तत्वों को टीम की हार में भी खुशियां मिल रही थीं और जातिवाद नजर आ रहा था।

जब मैच के शुरुआती दो मिनट में वंदना के मूव पर मिले पेनल्टी कॉर्नर को कुलजीत कौर ने जैसे ही गोल में बदला तो सभी खुशी से झूम उठे थे, मगर वंदना के पड़ोस में सन्नाटा पसर गया था। इसके बाद जब टीम इंडिया मैच हार गई तो उन्हीं पड़ोसियों के घर में खुशियां मनाई जा रही थीं और पटाखे फोड़े जा रहे थे।

आरोप है कि ये पड़ोसी दलित समाज से ताल्लुक रखने वाली वंदना पर जातिसूचक शब्दों के जरिए हमला कर उसे टीम की हार के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे थे। वंदना के भाई ने पुलिस में इसकी शिकायत की। वंदना के भाई का आरोप है कि उनसे ईर्ष्या रखने वाले उनके कुछ पड़ोसियों ने हार की खुशियां मनाते हुए न केवल आतिशबाजी की, बल्कि वंदना और परिवार के खिलाफ जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए गाली-गलौच भी की।
ALSO READ:

भारतीय हॉकी टीम के इस कारनामे पर महान ध्यानचंद जहां भी होंगे खुश होंगे
आरोप है कि पड़ोसियों ने वंदना को दलित समाज की बताते हुए दलितों को टीम की हार का जिम्मेदार बताया।भारतीय महिला हॉकी टीम की हार पर वंदना के पड़ोसियों द्वारा खुशियां मनाने व पटाखे फोड़ने के बाद गांव में हंगामा हो गया। वंदना के परिजनों की शिकायत के बाद मौके पर पुलिस भी पहुंची।
पुलिस ने बमुश्किल लोगों को शांत कराया और वंदना के भाई की शिकायत पर सिडकुल थाने में धारा 504 और एससी एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।



और भी पढ़ें :