काबुल में विस्फोट, तालिबान ने अमेरिका को बताया जिम्मेदार

पुनः संशोधित शुक्रवार, 27 अगस्त 2021 (00:15 IST)
काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी स्थित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा के बाहर गुरुवार शाम हुए दोहरे में कम से कम 40 लोगों की हो गई तथा 120 घायल हो गए, जिनमें से कई की हालत नाजुक है।
घायलों में अमेरिकी नागरिक भी शामिल हैं।अफगानिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने यह जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक हवाई अड्डा के बाहर हुए संदिग्ध आत्मघाती हमले में मरने वालों की संख्या बढ़कर 40 हो गई है, जबकि 120 लोग घायल हुए हैं।

यह घटना अमेरिका द्वारा अपने नागरिकों को सुरक्षा खतरों की वजह से हवाई अड्डा से दूर रहने की चेतावनी के कुछ घंटों बाद घटित हुई। फॉक्स न्यूज चैनल ने अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में बताया कि पहला विस्फोट हवाई अड्डा के अब्बे गेट पर हुआ, जिसमें तीन अमेरिकी नौसैनिक भी घायल हो गए।

कुछ सोशल मीडिया साइट्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि मृतकों में अमेरिकी नागरिक भी शामिल हैं, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई है। उधर, के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने इस घटना की कड़ी निंदा की, लेकिन कहा कि विस्फोट उस क्षेत्र में हुए हैं, जिस क्षेत्र में सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिकी सेना के पास है।
ALSO READ:

: पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई को तालिबान ने किया नजरबंद
उन्होंने ट्वीट कर कहा, इस्लामिक अमीरात काबुल हवाई अड्डे पर बमबारी की कड़ी निंदा करता है, जिस क्षेत्र में यह घटना घटित हुई, उस क्षेत्र की सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिकी सेना के पास है। इस्लामिक अमीरात अपने लोगों की सुरक्षा पर पूरा ध्यान दे रहा है और बुरी घटनाओं को सख्ती से रोका जाएगा।(वार्ता)



और भी पढ़ें :