शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. अन्य खेल
  3. समाचार
  4. Russia constantly being sidelined by Interational sports body
Written By
पुनः संशोधित शुक्रवार, 4 मार्च 2022 (13:13 IST)

खेल के मैदान पर अलग थलग पड़ रहा रूस, पहलवानों पर भी लगा प्रतिबंध

मॉस्को: खेलों के मैदान में रूस लगातार अलग थलग पड़ रहा है। फीफा और जूनियर हॉकी विश्वकप के बाद अब अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (आईडब्ल्यूएफ) ने यूक्रेन में सैन्य अभियान को लेकर रूसी और बेलारूसी एथलीटों को अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने पर रोक लगा दिया है।

आईडब्ल्यूएफ ने कहा,'आईडब्ल्यूएफ कार्यकारी बोर्ड ने मौजूदा स्थिति पर चर्चा की और रूस तथा बेलारूस के सभी एथलीटों, टीम के अधिकारियों और तकनीकी अधिकारियों की किसी भी अंतरराष्ट्रीय या महाद्वीपीय भारोत्तोलन में अगली सूचना तक प्रतिभागी को शामिल होने पर रोक रहेगा।'

इसके अलावा, आईडब्ल्यूएफ द्वारा अगली सूचना तक इन देशों में स्वीकृत कोई भी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा।

UWW ने रूसी पहलवानों, अधिकारियों पर लगाया प्रतिबंध

यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) ब्यूरो ने यूक्रेन पर रूस के बढ़ते हमलों के बीच रूसी पहलवानों और अधिकारियों पर अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में भाग लेने पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने गुरुवार को एक बयान में कहा, “ ब्यूरो ने निर्णय लिया है कि रूस और बेलारूस में यूडब्ल्यूडब्ल्यू से संबद्ध और संबद्ध संघों से संबंधित किसी भी पहलवान या अधिकारी को यूडब्ल्यूडब्ल्यू कैलेंडर में अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी। यह फैसला तत्काल प्रभाव से लागू होगा। यूडब्ल्यूडब्ल्यू ब्यूरो यूक्रेन में स्थिति की निगरानी करना जारी रखेगा।

यडब्ल्यूडब्ल्यू ब्यूरो ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) की अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में रूसी और बेलारूसी एथलीटों और अधिकारियों को भाग लेने की अनुमति न देने की सिफारिश के अनुसार इस साल रूस या बेलारूस में नियोजित अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों को रद्द करने का भी ऐलान किया है।

IPC ने रूस, बेलारूस के पैरालंपिक खेलों में भाग लेने पर लगाई रोक

अंतरराष्ट्रीय पैरालंपिक समिति (आईपीसी) के गवर्निग बोर्ड ने कई राष्ट्रीय पैरालंपिक समितियों की ओर से 2022 पैरालंपिक शीतकालीन खेलों में रूस और बेलारूस के खिलाफ प्रतिस्पर्धा न करने की चेतानी देने के बाद गुरुवार को रूस और बेलारूस के एथलीटों के पैरालंपिक खेलों में भाग लेने पर रोक दी।

आईपीसी ने यह फैसला अपनी उस घोषणा के बाद लिया है, जिसमें उसने कहा था कि रूसी और बेलारूसी एथलीट शीतकालीन पैरालंपिक खेलों में तटस्थ भागीदार के रूप में भाग लेंगे।

आईपीसी ने एक बयान में कहा, “ पिछले 12 घंटों में बड़ी संख्या में हमारे संबंद्ध संघों ने हमसे संपर्क किया और हमें बताया कि अगर हम अपने फैसले पर पुनर्विचार नहीं करते हैं तो इसके बीजिंग पैरालंपिक शीतकालीन खेल 2022 के लिए गंभीर परिणाम हो सकते हैं। राष्ट्रीय पैरालंपिक समितियों में से कुछ अपनी सरकार, टीम और एथलीटों से संपर्क में हैं। उन्होंने प्रतिस्पर्धा में मुकाबाला न करने की चेतावनी दी है। ”

आईपीली ने कहा, “ इन खेलों की अखंडता को बचाने और सभी प्रतिभागियों की सुरक्षा को लेकर हमने रूस और बेलारूस के एथलीटों के खेलों में भाग लेने पर रोक लगा दी है।(वार्ता/स्पूतनिक)
ये भी पढ़ें
50 के आंकड़े को भी नहीं छू पाए विराट कोहली, लेकिन आउट होने से पहले टेस्ट क्रिकेट में पूरे किए 8000 रन