PV Sindhu कोरिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में पहले ही दौर में बाहर, कश्यप जीते

पुनः संशोधित बुधवार, 25 सितम्बर 2019 (15:37 IST)
इंचियोन। विश्व चैंपियन भारत की पीवी सिंधू के लिए बुधवार को की शुरुआत बेहद खराब रही, जहां वे महिला एकल के पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गईं। हालांकि पुरुष खिलाड़ी ने जीत से खाता खोल दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया।
5वीं वरीय सिंधू को गैर वरीय अमेरिका की बेइवेन झांग से कड़ी चुनौती झेलनी पड़ी, जहां वे 21-7, 22-24, 15-21 से 56 मिनट के संघर्ष में मुकाबला गंवा बैठीं। विश्व में 5वें नंबर की भारतीय खिलाड़ी ने हालांकि इससे पहले तक करियर के कुल 8 मुकाबलों में झांग को 5 बार हराया है। लेकिन 11वीं रैंक अमेरिकी खिलाड़ी ने इस जीत के बाद अपना रिकॉर्ड सुधारते हुए 4-5 कर लिया है।
पुरुष एकल वर्ग के पहले दौर में कश्यप ने चीनी ताइपे के विपक्षी खिलाड़ी लू चिया हंग की चुनौती को 42 मिनट में पार करते हुए 21-16, 21-16 से जीत अपने नाम कर ली। विश्व में 30वीं रैंकिंग के कश्यप की 61वीं रैंक हंग के खिलाफ यह करियर की पहली भिड़ंत थी। कश्यप अब दूसरे दौर में मलेशिया के लियू डेरेन से भिड़ेंगे।
पुरुष एकल में हालांकि अन्य भारतीय का परिणाम भी सिंधू की तरह रहा और वे भी पहले दौर में ही बाहर हो गए। उन्हें 5वीं वरीय डेनमार्क के एंडर्स एंटोनसेन के खिलाफ मैच के बीच में ही रिटायर होना पड़ा। प्रणीत पहला गेम 9-21 से हारने के बाद दूसरे गेम में 7-11 से पिछड़ गए थे, जब उन्होंने चोट के कारण मैच छोड़ दिया।
पुरुष युगल में भी भारत के हाथ निराशा लगी, जहां मनु अत्री और बी. सुमीत रेड्डी की जोड़ी को चीन के हुआंग काई शियांग तथा लियू चेंग की जोड़ी ने 50 मिनट तक चले मुकाबले में 21-16, 19-21, 21-18 से हराकर पहले ही दौर में बाहर कर दिया।

इस वर्ष विश्व चैंपियन बनीं भारत की स्टार शटलर सिंधू के लिए यह लगातार दूसरा सप्ताह है, जब उन्हें किसी टूर्नामेंट के शुरुआती राउंड से बाहर होना पड़ा है। गत सप्ताह वे चाइना ओपन के प्री क्वार्टर फाइनल में बाहर हो गई थीं। सिंधू ने बासेल में विश्व चैंपियनशिप के दौरान भी झांग को पराजित किया था, लेकिन इस बार वे पहले ही दौर में उनकी चुनौती को पार नहीं कर सकीं।
कोरिया ओपन से ठीक पहले अपनी कोरियाई कोच के इस्तीफे से निराश 5वीं वरीय सिंधू ने हालांकि अमेरिकी खिलाड़ी के खिलाफ बढ़िया शुरुआत करते हुए पहला गेम 21-7 से एकतरफा अंदाज में जीता था लेकिन दूसरे गेम में मैच प्वॉइंट के बावजूद सिंधू 22-24 से गेम गंवा बैठीं।

तीसरे गेम में भी दोनों के बीच मैच इतना कड़ा रहा कि सिंधू केवल लगातार 2 ही अंक ले सकीं और 9-9 की बराबरी के बाद झांग उनसे बढ़त पर ही रहीं। झांग ने इस गेम में 36 में से 21 अंक जीते जबकि भारतीय खिलाड़ी 15 अंक ही ले सकीं।


और भी पढ़ें :