नोवाक जोकोविच को नहीं पची हार, US ओपन फाइनल मैच में तोड़ा रैकेट (वीडियो)

Last Updated: सोमवार, 13 सितम्बर 2021 (18:07 IST)
न्यूयॉर्क:विश्व के नंबर दो टेनिस खिलाड़ी रूस के डेनिल मेदवेदेव ने यहां रविवार रात को विश्व के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के का साल में चारों ग्रैंड स्लेम जीतने का सपना तोड़ते हुए यूएस ओपन 2021 का पुरुष एकल खिताब जीत लिया।

मेदवेदेव ने शानदार खेल दिखाते हुए शीर्ष वरीयता प्राप्त जोकोविच को लगातार सेटों में 6-4, 6-4,6-4 से हराया। इस साल फरवरी में ऑस्ट्रेलिया ओपन फाइनल में जोकोविच से हारने वाले 25 वर्षीय मेदवेदेव ने अपने करियर का पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीता, जबकि जोकोविच इस हार के साथ एक सीजन में चार ग्रैंड स्लेम जीतने की उपलब्धि हासिल करने से चूक गए।

उल्लेखनीय है कि जोकोविच ने इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन, फ्रेंच ओपन और विंबलडन खिताब जीता था और यूएस ओपन खिताब जीतने के बाद वह ऑस्ट्रेलिया के रॉड लेवर के बाद 52 वर्षों में पहली बार एक सीजन में चार ग्रैंड स्लैम जीतने वाले टेनिस खिलाड़ी बन जाते, लेकिन एकतरफा हार के साथ उनका यह सपना टूट गया।

इस हार के साथ जोकोविच का स्पेन के राफेल नफ़ाल और स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर से सर्वाधिक ग्रैंड स्लेम जीतने के मामले में आगे निकलने का सपना भी टूट गया। तीनों के इस समय एक बराबर 20 ग्रैंड स्लेम खिताब हैं। दूसरी तरफ मेदवेदेव इस खिताब के साथ ग्रैंड स्लेम खिताब को जीतने वाले येवगेनी काफेलनिकोव और मरात साफिन के बाद तीसरे रूसी खिलाड़ी बन गए।

मेदवेदेव ने अपनी जीत के बाद कहा,''आप नहीं जानते कि आप अपने करियर में कब ग्रैंड स्लेम जीत सकते हैं। इस जीत से मुझे काफी ख़ुशी महसूस हो रही है। यह मेरा पहला ग्रैंड स्लेम है मैं नहीं जानता कि मैं तब कैसा महसूस करूंगा जब मैं दूसरा या तीसरा ग्रैंड स्लेम जीतूंगा। यह मेरा पहला ग्रैंड स्लेम है और इसके मेरे लिए बहुत मायने हैं इसलिए मैं बहुत खुश हूं।

अपनी सेमीफाइनल जीत के बाद मेदवेदेव ने कहा था कि वह फ़ाइनल में जोकोविच के खिलाफ कड़ा संघर्ष करेंगे और उन्होंने अपना वादा पूरा कर दिखाया।

जोकोविच फ़ाइनल के दौरान हताशा में दिखाई दिए और उन्होंने अपने हाथों से मौकों को फिसल जाने दिया। दूसरे सेट में वह पहले दो रिटर्न गेमों में रूसी खिलाड़ी की सर्विस तोड़ने के मौके चूक गए जिसके बाद वह वापसी नहीं कर पाए।

इस मैच के बाद जोकोविक की प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई। आमतौर पर खुशमिजाज रहने वाले जोकोविक ने रैकेट जमीन पर इतनी बार मारा जब तक वह टूट नहीं गया।जिससे चेयर अंपायर ने उन्हें चेताया और आर्थर एशे स्टेडियम पर जमा दर्शकों ने हूटिंग भी की।
मेदवेदेव दो साल पहले यूएस ओपन के फ़ाइनल में पहुंचे थे लेकिन नडाल से उन्हें पांच सेटों में हार का सामना करना पड़ा था। मेदवेदेव ने पहले गेम से ही मैच पर अपना नियंत्रण रखा और अपने करियर की सबसे बड़ी जीत दो घंटे 15 मिनट में हासिल की।

रूसी खिलाड़ी ने ट्रॉफी सेरेमनी के दौरान कहा ,''मैं आपके प्रशंसकों और नोवाक से माफ़ी माँगना चाहता हूं। मैंने ऐसा किसी से नहीं कहा लेकिन मैं आज सबके सामने कहना चाहता हूं कि मेरे लिए आप इतिहास के सबसे महान टेनिस खिलाड़ी हो। ''

25 वर्षीय मेदवेदेव ने तीसरे सेट में 5-2 के स्कोर पर अपने पहले चैंपियनशिप पॉइंट पर डबल फाल्ट किया और गेम में बाद में पहली बार मैच में अपनी सर्विस गंवाई। दर्शकों की भीड़ ने यहाँ से जोकोविच का वापसी के लिए उत्साहवर्धन करना शुरू किया और मेदवेदेव अगले मैच पॉइंट पर फिर डबल फाल्ट कर बैठे , लेकिन मैच में सफलतापूर्वक सर्विस करते हुए उन्होंने उस समय खिताब जीत लिया जब जोकोविच का बैकहैंड रिटर्न नेट में उलझ गया।मेदवेदेव ने मैच में आठ बार में चार ब्रेक अंक भुनाए जबकि छह मौकों में मात्र एक बार अपनी सर्विस गंवाई।

आखिरी बार एक ही वर्ष में सारे खिताब रॉड लावेर ने जीते थे जिन्होंने 1962 और 1969 में दो बार यह कारनामा किया। महिला वर्ग में एकमात्र स्टेफी ग्राफ यह कमाल कर चुकी हैं जिन्होंने 1988 में चारों खिताब जीते थे।
पिछले साल जोकोविच को चौथे दौर के बाद फ्लशिंग मिडोज से डिस्क्वालीफाई कर दिया गया था क्योंकि एक गेम गंवाने के बाद उन्होंने एक बॉल हिट की जो एक लाइन जज के गले में लग गयी थी।



और भी पढ़ें :