सचिन तेंदुलकर से मिन्नतें करेगा एमसीए

मुंबई| भाषा|
FILE
मुंबई। (एमसीए) के उपाध्यक्ष ने कहा कि से मिन्नतें करेगा कि वह घरेलू प्रारूप में अपने लेने के फैसले पर दोबारा विचार करें और इस सत्र में रणजी ट्रॉफी में खेलना जारी रखें।

एमसीए उपाध्यक्ष रवि सावंत ने कहा सचिन ने तब अपने संन्यास की घोषणा की थी, जब हम अपने चुनाव में व्यस्त थे। हम मुंबई टेस्ट के बाद सचिन से बात करेंगे और उनसे इस सत्र में मुंबई के लिए खेलना जारी रखने का आग्रह करेंगे। यह 40 वर्षीय महान बल्लेबाज अपना 200वां और अंतिम टेस्ट मैच यहां वानखेड़े स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ 14 से 18 नवंबर तक खेलेगा।
सावंत ने कहा कि मुंबई के ड्रेसिंग रूम में इस अनुभवी खिलाड़ी की मौजूदगी युवाओं के लिए अच्छी होगी। उन्होंने कहा हरियाणा के खिलाफ इस सत्र के पहले रणजी मैच में उन्होंने मुंबई को बचा लिया था। उनमें अभी काफी क्रिकेट बचा है। मुंबई के कई सीनियर क्रिकेटरों ने इस साल संन्यास लिया है। सावंत ने कहा, अजीत आगरकर संन्यास ले चुके हैं, रमेश पोवार अब राजस्थान के लिए खेल रहे हैं, जहीर खान भी भारतीय टीम में जगह बनाने की कोशिश कर रहे हैं। अगर जहीर भी चले जाते हैं तो मुंबई की टीम में कोई भी सीनियर खिलाड़ी नहीं होगा, इसलिए सचिन की सेवाओं की जरूरत है।

उन्होंने हालांकि कहा कि तेंदुलकर ने रणजी ट्रॉफी से संन्यास लेने के बारे में एमसीए को कोई भी अधिकारिक सूचना नहीं दी है, हालांकि इस बल्लेबाज ने एक अखबार को बताया कि हरियाणा के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मुकाबला उनका अंतिम घरेलू मैच होगा।
सावंत के अनुसार सचिन ने अभी तक हमें पत्र नहीं लिखा है। उन्होंने सिर्फ बीसीसीआई को यह कहा है कि वह अपना 200वां टेस्ट खेलने के बाद संन्यास ले लेंगे। वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेंगे, इसलिए वह घरेलू क्रिकेट में खेल सकते हैं।

एमसीए वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दूसरे टेस्ट के समाप्त होने के बाद सचिन तेंदुलकर को सम्मानित करने की योजना भी बना रहा है लेकिन सावंत ने इस संदर्भ में जानकारी देने से इनकार कर दिया। (भाषा)
सचिन तेंदुलकर पर पढ़िए स्पेशल कवरेज



और भी पढ़ें :