मंगलवार, 16 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. धर्म-दर्शन
  3. धार्मिक स्थल
  4. अयोध्या जाने की तैयारी कर रहे हैं तो जानिए 10 टिप्स
Written By WD Feature Desk
Last Updated : गुरुवार, 25 जनवरी 2024 (15:41 IST)

अयोध्या जाने की तैयारी कर रहे हैं तो जानिए 10 टिप्स

अयोध्या कैसे पहुंचें, कहां ठहरें, क्या देखें, जानें दर्शन का समय

Ayodhya Travel Tips| अयोध्या जाने की तैयारी कर रहे हैं तो जानिए 10 टिप्स
How to go to Ayodhya: अयोध्‍या राम मंदिर में प्रभु श्री राम की बाल मूर्ति यानी रामलला की प्रतिमा की स्थापना और प्राण प्रतिष्ठा के बाद आम लोगों के दर्शन के लिए मंदिर ट्रस्ट ने व्यवस्था की है। यदि आप भी रामलला के दर्शन करने की योजना बना रहे हैं तो अयोध्या जाने से पहले जान लें हमारे द्वारा बताए जा रहे 10‍ टिप्स।
 
1. दर्शन का समय :-
यदि आप राम मंदिर जा रहे हैं तो आपके लिए यह जानना जरूरी है कि दर्शन का समय क्या है? मंदिर सुबह 7 बजे से दोपहर 11.30 बजे तक और दोपहर में 2 बजे से 7 बजे तक दर्शन के लिए खुला रहेगा। दोपहर में करीब ढाई घंटे भोग और विश्राम के लिए मंदिर बंद रहेगा।
 
आरती तीन बार होगी- 
1. पहली आरती श्रृंगार आरती है जो सुबह 6:30 बजे होगी।
2. दूसरी आरती भोग आरती है, जिसका समय दोपहर 12 बजे तय किया गया है।
3. तीसरी संध्या आरती का समय शाम 7:30 बजे रखा गया है।
 
2. आरती के लिए पास लेना जरूरी :-
यदि आप रामलला की आरती में शामिल होने का सोच रहे हैं तो पास होना अनिवार्य है। यह पास आपको आरती शुरू होने से आधे घंटे पहले मिलेगा। पास लेने के लिए आईडी प्रूफ होनी चाहिए।
 
3. एप कर लें डाउनलोड : राम मंदिर ट्रस्ट और प्रदेश सरकार ने 22 भाषाओं में एक मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च किया है। इसका नाम दिव्य अयोध्या मोबाइल एप रखा गया है। अगर आप अयोध्या आ रहे हैं तो इस ऐप के माध्यम से आपको यहां के बारे में हर जानकारी मिलेगी। अपने मोबाइल में इसे डाउनलोड कर लें। यह आपकी यात्रा को आसान बना देगा।
 
4. दर्शनीय स्थलों की लिस्ट बना लें : अयोध्या जाने से पहले वहां पर आप जिस भी जगह और मंदिर के दर्शन करना चाहते हैं उसकी एक लिस्ट बना लें। अयोध्या में इस वक्त बहुत भीड़ रहेगी इसलिए अपनी प्राथमिकता में पहले राम जन्मभूमि मंदिर दर्शन को लें इसके बाद ही दूसरे मंदिरों के दर्शन करें। खास दर्शनीय स्थलों में दशरथ महल, कनक भवन, हनुमानगढ़ी मंदिर, सरयू नदी का गुप्तार घाट, रामकोट, सीता की रसोई, छोटी और बड़ी देवकाली मंदिर और दंत धावन कुंड देखना न भूलें। सभी टूरिस्ट स्पॉट्स के देखने के चक्कर में जल्दबाजी न करें। अगर जरूरत पड़े, तो एकाध कम जरूरी जगहों को लिस्ट से बाहर भी कर लें।
5. हेल्थ किट : एक बाक्स में आप जरूरी दवाईयों के साथ ही ग्लूकोज और इलेक्ट्रोल के पैकेट जरूर रखें और साथ ही जरूरी दवाइयों में बुखार, एलर्जी, सर्दी जुकाम, एसिडिटी, सिरदर्द आदि की टैबलेट रख लें। मौसम के अनुसार कपड़ों का बंदोबस्त करें।
 
6. अनजानी जगहों पर न जाएं : यात्रा के दौरान जिज्ञासावश किसी अनजानी या सुनसान जगहों पर जाने से बचें। कई बार ऐसी जगहों पर अवैध गतिविधियों के चलते आप मुसीबत में फंस सकते हैं। समय समय पर अपनी लोकेशन की जानकारी अपने खास को देते रहें। जरूरी हो तो गुगल मैप का सहारा लें और जहां भी घूमने जा रहे हैं उसकी लोकेशन और डिस्टेंस चेक करते रहें। भीड़भाड़ से बचने का प्रयास करें। आसानी से दर्शन हो इसके लिए नियमों का पालन करें। अनजानी वस्तुओं का न छूएं।
 
7. जरूरी हो तो पूछताछ करें, पहले से होटल, धर्मशाला या लॉज बुक करें : पूछताछ ज्यादा करें। जिस होटल में ठहर रहे हैं, उसके मैनेजर से या घूमने-फिरने के लिए ली गई टैक्सी के ड्राइवर से या वहां के लोकल लोगों से आप सभी तरह की जानकारी लें। जानकारी से ट्रिप आसान हो जाती है। अयोध्या आने के पूर्व ही रहने, खाने और ठहरने की जगह बुक कर लें अन्यथा आपको परेशानी उठाना पड़ सकती है।
 
8. ये चीज़े नहीं ले जा सकते : अयोध्या राम मंदिर में आप अपने साथ किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं ले जा सकते हैं। इसके लिए आप जहां ठहरे हैं वहीं इन्हें छोड़ दें या अयोध्या परिसर में ट्रस्ट द्वारा उपलब्ध कराए गए नियत स्थान पर रख सकते हैं। यदि आप नियम तोड़ते हैं, तो आप मुश्किल में भी फस सकते हैं। आप अपने साथ खाने की चीजें भी नहीं ले जा सकते हैं। बेल्ट या जूते पहनकर मंदिर के अंदर प्रवेश नहीं कर सकते हैं। पूजा की थाली या अन्य सामग्री ले जाने के नियम भी जान लें।
 
9. रुकने की व्यवस्था : अयोध्या में आपको आपके बजट के अनुसार रुकने की व्यवस्था मिल जाएगी। यहां 100 से 200 रुपया प्रति व्यक्ति की नॉमिनल फीस पर धर्मशाला मिल सकती है। वहीं प्राइवेट होटल और लॉज भी मौजूद हैं, जहां आप अपनी ज़रूरत और बजट के हिसाब से रूम चुन सकते हैं। आप आईआरसीटीसी टूर पैकेज लेकर भी यात्रा कर सकते हैं।
 
10. कैसे पहुंचे अयोध्या?
- सड़क मार्ग : अयोध्या लखनऊ से 136, वाराणसी से 219, प्रयागराज से 168 किलोमीटर दूर है। गोरखपुर से अयोध्या की दूरी 138 किलोमीटर है। दिल्ली से अयोध्या की दूरी 668 किलोमीटर है। कोलकाता से 922 किलोमीटर है। जयपुर से 707, इंदौर से 932 किलोमीटर है। अयोध्या देश के सभी प्रमुख सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। यदि आप निजी यात्रा पसंद करते हैं, तो आप निजी कार का विकल्प भी चुन सकते हैं या लखनऊ, वाराणसी या प्रयागराज जैसे प्रमुख शहरों से टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।
 
- ट्रेनें : अयोध्या जंक्शन से राम मंदिर की दूरी करीब 6 किलोमीटर है। अयोध्या जंक्शन सभी बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है। दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, पुणे, इंदौर, कोलकाता, नागपुर, लखनऊ और जम्मू जैसे शहर से आपको अयोध्या के लिए आसानी से ट्रेन मिल जाएगी। फिलहाल रेलवे स्टेशन में रिनोवेशन का कार्य चल रहा है।
 
- हवाई यात्रा : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ शहर में हवाई अड्डा है जो अयोध्या का सबसे करीब है। लखनऊ के लिए आप दिल्ली से फ्लाइट ले सकते हैं। वाराणसी और प्रयागराज में भी एयरपोर्ट है।