अयोध्या पहुंचे UP के CM योगी, बोले- वैश्विक टूरिज्म हब के साथ एजुकेशन व स्वास्थ्य सुविधाएं भी होंगी बेहतर

Last Updated: रविवार, 25 जुलाई 2021 (18:25 IST)
हमें फॉलो करें
अयोध्या। के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अयोध्या आने वाले समय में वैश्विक टूरिज्म हब के साथ एजुकेशन व स्वास्थ्य सुविधाओं का केन्द्र बने, इसके लिए केन्द्र व प्रदेश सरकार कटिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने आज यहां राजर्षि दशरथ स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय परिसर के प्रशासनिक एवं ओपीडी भवन के निरीक्षण के समय यह बात कही।
उन्होंने कहा कि देश में सबसे ज्यादा मेडिकल कॉलेज यूपी के पास में है। इस आधार पर हम हेल्थ सेक्टर में नम्बर वन है। उन्होंने कहा कि 1947 में आजादी के बाद अब तक 69 वर्षो में 12 मेडिकल कॉलेज यूपी में थे। वर्तमान सरकार के चार से साढ़े चार साल की कार्यकाल के दौरान 32 नए मेडिकल कॉलेज बनने की प्रक्रिया में है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत 2019 में अयोध्या मेडिकल कॉलेज में 100 छात्रों के साथ यहां प्रवेश हुआ था।

प्रदेश सरकार ने 2019-20 में 8 नए मेडिकल कॉलेज को एमसीआई से अप्रूवल के बाद प्रारंभ किया था। इसमें अयोध्या भी था। मार्च 2020 में जब कोरोना आया तो यह मेडिकल कालेज डेडिकेटेड कोविड हास्पिटल के रूप में प्रयोग किया गया। इन नए मेडिकल कॉलेजों में तीन हजार आरटीपीसीआर टेस्ट करने की क्षमता है।

मुख्यमंत्री ने कहा मार्च 2020 में जब कोरोना की आहट हुई थी तो राज्य में एक भी कोरोना टेस्ट करने के लिए लैब नहीं थी। आज हमारे पास 3 लाख से अधिक टेस्ट करने की क्षमता है। जब यूपी में पहला कोविड का मरीज आया तो उसका सैम्पल टेस्ट करने के लिए बाहर भेजना पड़ा था। पेशेन्ट को उपचार के लिए भी बाहर भेजना पड़ा था। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर के पहले सभी तैयारी पूरी हो चुकी है।

उन्होंने आज यहां मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया और कहा कि 8 नये मेडिकल कॉलेज बनने के साथ नौ नये मेडिकल कालेज एनएचसी के पास अप्रूवल की प्रक्रिया में है। उन्होंने कहा कि अयोध्या मेडिकल कालेज दो बैच में 100 छात्र है और नये बैच में 100 और छात्रों की तैयारी की जा रही है। जिसकी अक्टूबर में काउसलिंग होगी। इस सत्र में 14 नए मेडिकल कालेज भारत सरकार के सहयोग से बनाये जा रहे है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के 16 जिले ऐसे है जहां एक भी मेडिकल कॉलेज नहीं है। उनके लिए हम पालिसी लेकर आ रहे है। दिसम्बर तक इसके लिए अपनी स्वीकृति प्रदान कर देगें। यहां मेडिकल कालेज का निरीक्षण किया। आने वाले समय में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हो सके इसका पूरा प्रयास किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के दौरान मौलश्री एवं फलदार/छायादार वृक्ष भी लगाए गए। उन्होंने विभिन्न वार्डो में जाकर मरीजों से बातचीत की और उकी बीमारी के संबंध में पूछा।
ALSO READ:

Mann Ki Baat : पीएम मोदी ने साइकल पर छोले भटूरे बेचने वाले संजय राणा का किया जिक्र, जानिए क्यों...
उन्होंने मरीजों को गरम पानी पीने और साफ सफाई पर विशेष ध्यान रखने पर बल दिया। योगी ने निरीक्षण के बाद मीडियाकर्मियों से कहा कि हमारा उद्देश्य है कि अयोध्या एक विश्व स्तरीय पर्यटन केन्द्र के साथ साथ एजुकेशनल एवं मेडिकल फैसिलिटी का भी बड़ा केन्द्र हो। इसके लिए स्थानीय प्रशासन द्वारा सभी क्षेत्रों में बेहतर कार्य किया गया जिसकी मैं सराहना करता हूं।
मुख्यमंत्री द्वारा अगले चरण में पर्यटन विभाग के यात्री निवास नयाघाट पर अयोध्या के संत महात्माओं से मुलाकात की गयी तथा संतो के साथ भोजन प्रसाद भी ग्रहण किया गया तथा मुख्यमंत्री ने सभी संतों को अंग वस्त्रम् प्रसाद आदि देकर सम्मानित किया। इसमें अयोध्या के लगभग सभी संत महंत उपस्थित थे।
योगी ने प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर का दर्शन पूजन किया तथा श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला मंदिर परिसर का निरीक्षण किया एवं पूजन किया तथा चल रहे कार्यो की जानकारी ली एवं संक्षिप्त रूप से सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। उसके मणिराम दास छावनी के महंत तथा रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास से भी मुलाकात की एवं प्रसिद्व सुग्रीव किला पीठाधीश्वर जगतगुरू विश्वप्रपन्नाचार्य से भी जाकर उनसे मुलाकात की एवं उनका कुशलक्षेम पूछा।
इस अवसर पर सांसद लल्लू सिंह, विधायक वेद प्रकाश गुप्ता, शोभा सिंह चैहान, इन्द्र प्रताप तिवारी, श्री रामचन्दर यादव, बाबा गोरखनाथ आदि जनप्रतिनिधियों के साथ अयोध्या के मेयर, पार्टी जिलाध्यक्ष एवं महानगर अध्यक्ष, जिला प्रशासन, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय, नगर आयुक्त विशाल सिंह मौजूद रहे।(वार्ता)



और भी पढ़ें :