गुरुवार, 25 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. manoj jarange alleges deputy cm devendra fadnavis of conspiring against his movements
Last Modified: मुंबई , रविवार, 25 फ़रवरी 2024 (17:30 IST)

Maharashtra : मुझे मारना चाहते हैं फडणवीस, मराठा आरक्षण कार्यकर्ता जरांगे का उप मुख्यमंत्री पर बड़ा आरोप

मुंबई मार्च करेंगे मनोज जरांगे

Maharashtra : मुझे मारना चाहते हैं फडणवीस, मराठा आरक्षण कार्यकर्ता जरांगे का उप मुख्यमंत्री पर बड़ा आरोप - manoj jarange alleges deputy cm devendra fadnavis of conspiring against his movements
Maharashtra Reservation Movement News : मराठा समुदाय को आरक्षण के लिए आंदोलन का नेतृत्व कर रहे मनोज जरांगे (Manoj Jarange) ने रविवार को कहा कि वे मुंबई मार्च करेंगे और महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के आवास के बाहर प्रदर्शन करेंगे।
जरांगे ने भाजपा के वरिष्ठ नेता फडणवीस पर उनकी हत्या की कोशिश करने का आरोप लगाया। जालना जिले के अंतरवाली सराटी में 1 घंटे से अधिक के अपने भाषण के अंत में जरांगे ने यह घोषणा की। उन्होंने फडणवीस पर कई आरोप भी लगाए।
जरांगे ने कहा कि कुछ लोगों को प्रलोभन दिया जा रहा और मेरे खिलाफ झूठे आरोप लगाने के लिए उन पर दबाव डाला जा रहा। इन साजिशों के पीछे फडणवीस का हाथ है। मैं इसी वक्त सागर बंगला (मुंबई के मालाबार हिल में फडणवीस का आधिकारिक आवास) तक मार्च करने के लिए तैयार हूं।
 
उनकी इस घोषणा से सभास्थल पर अफरा-तफरी मच गई, जहां जरांगे के समर्थक बड़ी संख्या में एकत्र हुए थे। यहां तक कि उनमें से कुछ ने माइक्रोफोन छीनने की कोशिश की।
जरांगे ने कहा कि वे अकेले मुंबई मार्च करेंगे और उन्हें सभी लोगों से केवल समर्थन की जरूरत है।
 
भाजपा विधायक नितेश राणे ने पलटवार करते हुए जरांगे को चेतावनी दी कि उन्हें फडणवीस तक पहुंचने के लिए ‘पार्टी कार्यकर्ताओं की विशाल दीवार’ को पार करना होगा। 
उन्होंने दावा किया कि जरांगे अभी एक ‘पटकथा’ पढ़ रहे हैं। राणे ने कहा कि उन्हें राजनीति में आना चाहिए, लेकिन उन्हें फडणवीस के खिलाफ आरोप लगाने के लिए इस निम्न स्तर तक नहीं जाना चाहिए।
 
भाजपा विधायक अतुल भातखलकर ने कहा कि जरांगे का ‘असली चेहरा’ अब सबके सामने है।
भातखलकर ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने मराठा समुदाय को 10 प्रतिशत आरक्षण (20 फरवरी को विधानमंडल में पारित एक विधेयक के जरिए) दिया है। वे विरोध क्यों जारी रखे हुए हैं? 
 
फडणवीस पांच साल तक मुख्यमंत्री थे और हर कोई उन्हें जानता है। जरांगे के आरोपों से उनकी छवि खराब नहीं होने जा रही है। भाषा/ वेबदुनिया न्यूज
ये भी पढ़ें
Sandeshkhali Violence : फैक्ट फाइंडिंग टीम को पुलिस ने संदेशखाली से 52 KM दूर ही रोका, सेक्शन-144 का दिया हवाला