कश्मीर घाटी में फिर से गूंजेगी लाइट, कैमरा और एक्शन की आवाजें

Jammu and Kashmir
Author सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 (19:09 IST)
जम्मू। कश्मीर में फिर से लाइट, कैमरा और की आवाजें गुंजने वाली हैं। इसकी खातिर बॉलीवुड के कई प्रोडक्शन हाउस की टीमें कश्मीर का दौरा भी कर चुकी हैं, जो जल्द से जल्द कई फिल्मों की शूटिंगें आरंभ करने का आश्वासन दे रहे हैं।
यही नहीं, केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर प्रदेश की प्रस्तावित फिल्म नीति में प्रदेश के सभी 20 जिलों में उपलब्ध लायक स्थानों को शामिल किया जाएगा। सभी जिला उपायुक्तों को 25 अप्रैल तक अपने-अपने कार्याधिकार क्षेत्र में ऐसे स्थानों का पूरा ब्योरा जमा कराने के लिए कहा गया है।

केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर प्रदेश को देश-दुनिया का एक प्रतिष्ठित फिल्म शूटिंग स्थल बनाने और फिल्म उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार एक फिल्म नीति बनाने जा रही है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा इसी माह के अंत तक फिल्म नीति को सार्वजनिक कर सकते हैं। प्रस्तावित नीति का मसौदा लगभग तैयार किया जा चुका है। अब इसमें उन जगहों को शामिल करना है, जहां फिल्मों, सीरियलों, वेब सीरिज और म्यूजिकल एल्बम को शूट किया जा सकता है।
हालांकि कश्मीर में आतंकी घटनाओं में कमी आई है पर आतंकवाद पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। सुरक्षाबलों के दावेनुसार 250 से 300 आतंकी आज भी कश्मीर में मौजूद हैं और इस चिंता से बाखबर होते हुए भी फिल्म प्रोडक्शन हाउस कश्मीर को फिर से सुनहरे पर्दे पर लाने को राजी हैं, क्योंकि प्रशासन पूरी सुरक्षा मुहैया करवाने का वादा कर रहा है।

दरअसल कोरोनावायरस के कारण पिछले एक साल से इंटरनेशनल लोकेशनों पर शूटिंगें नहीं कर पाने के कारण अब बॉलीवुड ने कश्मीर की ओर रुख किया है। आतंकवाद के दिनों के दौरान उनके कदम हिमाचल की ओर मुड़े तो थे लेकिन उन्हें हिमाचाल की वादियां कश्मीर के मुकबाले फीकी नजर आई हैं।


सूचना निदेशक राहुल पांडेय ने प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों को एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने प्रत्येक जिला उपायुक्त को अपने-अपने कार्याधिकार क्षेत्र के उन सभी स्थानों की जानकारी देने के लिए कहा है, जहां फिल्म शूटिंग हो सकती है। अपने पत्र में जिला उपायुक्तों को संबोधित करते हुए उन्होंने लिखा है कि जैसा कि आप सभी पहले से ही अवगत हैं कि उपराज्यपाल अगले चंद दिनों में जम्मू-कश्मीर की बहुप्रतीक्षित फिल्म नीति को सार्वजनिक करने वाले हैं।
प्रस्तावित नीति में फिल्म शूटिंग लायक स्थान और सुविधाएं ही सबसे अहम हैं। कश्मीर के टूरिज्म विभाग के डायरेक्टर कहते थे कि बॉलीवुड के करीब 24 सदस्यों का दल कश्मीर की विभिन्न लोकेशनों को छांट चुका है। इनमें सबसे प्रमुख पुरानी और सदाबहार लोकेशनें गुलमर्ग और पहलगाम ही हैं, जो पिछले कई दशकों से सुनहरे परदे पर छाई हुई हैं।

जनवरी माह में 4 दिनों तक कश्मीर में नई लोकेशनें तलाश करने वालों में अजय देवगन फिल्म्स, संजय दत्त प्रोडक्शन्स, रिलायंस एंटरटेनमेंट, रोहित शेट्टी फिल्म्स, जी स्टूडियो, अधिकारी ब्रदर्स प्रमुख हैं। इनके अतिरिक्त पिछले कुछ दिनों के दौरान और भी फिल्मी व बॉलीवुड हस्तियों ने कश्मीर का दौरा किया है। इनमें जुबिन नौटियाल, गुरु रंधावा, सना खान आदि शामिल हैं और कश्मीरी इनके दौरे से खुश इसलिए नजर आ रहे हैं, क्योंकि पहले संचारबंदी और फिर कोरोना ने उनकी कमर तोड़कर रख दी है। अब उन्हें फिल्म उद्योग से ही एकमात्र आस दिखाई दे रही है।



और भी पढ़ें :